अवैध कब्जे के मुकदमे से विशेष सचिव का हटाया नाम:घोसी में ग्रामीणों ने तहसील में किया प्रदर्शन

घोसी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

घोसी के लखनी मुबारकपुर गांव को लोगों ने गुरुवार को तहसील पर प्रदर्शन किया। उन्होंने तहसील प्रशासन पर एकपक्षीय कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। ग्रामीणों का कहना है कि पोखर में अवैध कब्जे का मुकदमा दर्ज ने के बावजूद मुख्य सचिल का नाम उससे हटा दिया गया है। ग्रामीणों ने प्रदर्शन व नारेबाजी करते हुए उपजिलाधिकारी सुरेश कुमार को शिकायती पत्र सौंपकर कार्रवाई करने की मांग की।

ग्रामीणों द्वारा उपजिलाधिकारी सुरेश कुमार को सौंपे गये पत्र में बताया कि लखनी मुबारकपुर गांव के गांव की पोखरी गाटा संख्या 1258 पर है। यहां अवैध कब्जे की शिकायत के चलते 25 अप्रैल को तहसीलदार की उपस्थिति में पैमाईश की गई। जिसमें बाद सचिवालय में तैनात विशेष सचिव अशोक कुमार सहित कुल 18 लोगों का अवैध कब्जा पाया गया था। राजस्व निरिक्षक की रिपोर्ट पर सभी 18 लोगों पर अवैध कब्जे का मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। लेकिन तहसील प्रसाशन ने विशेष सचिव के दबाव में आकर केवल 17 लोगों के खिलाफ नोटिस जारी किया। विशेष सचिव अशोक कुमार को नोटिस ही नहीं जारी किया गया।

अवैध कब्जे को लेकर आए दिन होता है झगड़ा

अलखनी मुबारकपुर गांव में इन्हीं अवैध कब्जों को लेकर आयेदिन झगड़ा होता रहता है। नौबतक मारपीट तक की आ जाती है। जिससे तनाव की स्थिति उत्पन्न हो जा रही है। ज्ञापन सौंपने वालों में हरेन्द्र कुमार, रंजीत कुमार, रीता देवी, रामाश्रय, राजू कुमार, बेचन, ग्रामसभा के पूर्व प्रधान रामनौमी प्रसाद, रामधारी, श्रवण कुमार, तुफानी सहित तीन दर्जन ग्रामीण मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...