मधुबन पीएचसी में मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला का हुआ आयोजन:102 रोगियों का हुआ नि:शुल्क उपचार, मौसम में बचाव के प्रति लोगों को किया गया जागरूक

मधुबन22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मऊ जिले के मधुबन में रविवार को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला का आयोजन किया गया। चूंकि इन दिनों मौसम में तेजी से बदलाव हो रहा है। इसके कारण लोग तेजी से मौसमी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।

रविवार को आयोजित इस स्वास्थ्य मेला में बदलते मौसम का साफ असर देखने को मिला। बड़ी संख्या में मरीज उपचार के लिए पहुंचे। सुबह 10 बजे से दोपहर के 2 बजे तक चले इस आयोजन में कुल 102 मरीजों का नि:शुल्क उपचार हुआ और साथ में इन्हें नि:शुल्क दवाइयां भी दी गई।

मरीजों की रुची के अनुसार हुआ उपचार

मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला में होम्योपैथ, आयुर्वेद एवं एलोपैथ तीनों विभाग के चिकित्सक उपलब्ध रहे एवं मरीजों की रुचि के अनुसार इन चिकित्सकों द्वारा उनका उपचार किया गया । वैसे मरीजों की अधिक भीड़ एलोपेथ विभाग में ही देखी गयी और यहाँ पर उपस्थित स्वास्थ्यकर्मी मरीजों की एक बड़ी भीड़ से जूझते नजर आए।

बदलते मौसम से सतर्क रहने की सलाह

यहाँ पर तैनात चिकत्सक एस एन राम एंव डॉ एन के गौतम के अनुसार स्वास्थ्य मेला में आये मरीजों में अधिकतर सामान्य मौसमी बीमारियों जैसे सर्दी, खांसी, जुकाम, उलटी-दस्त, बुखार आदि से ही पीड़ित नजर आये। मौसम असामान्य हो रहा है। ठंड की शुरुआत हो चुकी है। हालांकि इस का प्रभाव अभी सुबह, शाम एंव रात को ही देखने को मिल रहा है। दोपहर में तेज धूप खिल जा रही है। ऐसे में लापरवाही के कारण लोग तेजी से मौसमी बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।

स्वास्थ्य मेला में आए मरीजों को दवाओं के साथ-साथ इस बदलते मौसम से सतर्क रहने की सलाह भी दी जा रही है। चिकित्सकों के अनुसार ऐसे मौसम में सतर्कता ही सबसे बड़ा इलाज है। थोड़ी सी लापरवाही भारी पड़ सकती है। इस लिये कुछ जरूरी सावधानियां अपना कर सामान्य मौसमी बीमारियों की चपेट में आने से बचा जा सकता है।

इस मौके पर यह लोग मौजूद रहे

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मधुबन पर आयोजित मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला में डॉ कन्हैया त्रिपाठी, श्रीराम शर्मा, रामप्रकाश यादव, अशोक, शोभा, आशा यादव, मीरा, बिंदु, उमेश आदि स्वास्थ्य कर्मी उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...