मधुबन में परिवार का टूट चुका था हौसला:किडनी से पीड़ित का नहीं करा पा रहे थे इलाज, सोशल मीडिया में किया मैसेज तो मिली मदद

मधुबन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मऊ के मधुबन तहसील क्षेत्र के मर्यादपुर गांव निवासी 35 वर्षीय परमात्मा गुप्त पुत्र चंद्रिका किडनी रोग से पीड़ित हैं। इनका इलाज अपोलो हॉस्पिटल बनारस में चल रहा रहा है। परिवार की आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि इलाज के महंगे खर्च को वहन कर सके।

टूट चुका था हौसला

महंगी दवाई, महंगा इलाज परिवार के हौसले को तोड़ चुका था। किसी ने परिवार की इस पीड़ा को फेसबुक पर पोस्ट कर दिया। इसके बाद मदद को हाथ आगे आने लगे। कई लोगों ने परिवार को आर्थिक मदद देनी शरू कर दी।

इस बात की जानकारी अखिल भारतीय मध्य देशीय वैश्य सभा को हुई तो उसके पदाधिकारियों सहित सदस्यों ने परमात्मा गुप्त के इलाज का बीड़ा उठाया। उन्होंने न केवल खुद सहयोग दिया बल्कि वह दूसरे लोगों से भी सोशल ग्रुप के माध्यम से सहयोग देने की अपील कर रहे हैं। अभी तक इस संगठन के माध्यम से 81 हजार की मदद की जा चुकी है। आगे और भी सहायता का भरोसा दिलाया है।

संगठन के प्रदेश महामंत्री गिरीश चंद्र गुप्ता ने कहा कि एक-दूसरे के सुख-दुख में शामिल होना, उनके परेशानियों को साझा करना, जरूरत पड़ने पर एक-दूसरे की मदद करना, यही तो मनुष्य होने की पहचान है। संगठन तो इस परिवार की मदद कर ही रहा है।

कहा कि, आप सब भी आगे आएं और जरूरतमंद इस परिवार की दिल खोलकर सहायता करें, ताकि पीड़ित का समुचित इलाज हो सके और परिवार की खुशियां दोबारा लौट सकें। पीड़ित परिवार को सहयोग देने वालों में कपूर चंद गुप्ता, चंद्रमा गुप्ता, राधेश्याम मद्धेशिया, सुभाष चंद्र गुप्ता, अनिल गुप्ता, कैलाश मद्धेशिया, अनूप मद्धेशिया, गोरख, प्रदीप गुप्ता आदि लोग शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...