मऊ में शाही इमाम ने किया पोलिया अभियान का आगाज:बोले-घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाएंगी टीम, 19 से 23 सितंबर तक चलेगा कार्यक्रम

मऊ12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मऊ में बच्चों को पोलियो की ड्रॉप पिलाते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
मऊ में बच्चों को पोलियो की ड्रॉप पिलाते स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी।

मऊ में रविवार को पल्स पोलियो का शुभारंभ किया गया। शाही कटरा के इमाम मोहम्मद इफ्तेखार ने बच्चों को पोलियो की ड्रॉप पिलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि 19 से 23 सितंबर तक घर-घर जाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम पोलियो की दवा पिलाएगी।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. बीके यादव ने बताया कि अभियान को सफल बनाने के लिए जिला अधिकारी कार्यालय की तरफ से समस्त उप जिलाधिकारी, बेसिक शिक्षा विभाग, आईसीडीएस, जिला पूर्ति अधिकारी, नगर निकायों से संबंधित अधिकारियों और जिला पंचायती राज अधिकारी को पत्र भेजे गए हैं। इस पत्र के जरिये दिए गये दिशा-निर्देशों के अनुसार स्कूलों में बूथ दिवस पर रैलियां निकाली गयी हैं। साथ ही पल्स पोलियो अभियान के प्रति जागरूकता के संदेश दिये गए।

मऊ में रविवार को पोलियो अभियान शुभारंभ हुआ।
मऊ में रविवार को पोलियो अभियान शुभारंभ हुआ।

5 वर्ष तक के बच्चों को दवा दिलवाने की अपील

आईसीडीएस विभाग से कहा गया है कि आंगनबाड़ी केंद्रों के तीन से पांच वर्ष तक के बच्चों को केंद्र पर दवा पिलवाएं। जबकि तीन वर्ष से कम आयु के बच्चों के माताओं को प्रेरित कर दवा पिलाई जाए। राजस्व विभाग, आपूर्ति विभाग, पंचायती राज विभाग और नगर निकाय से जुड़े लोगों से इनकारी परिवारों को प्रेरित कर उनके बच्चों को पोलियों की दवा पिलवाने को कहा गया है।

16 से 24 महीने की आयु में भी दी जाती है बूस्टर खुराक

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नरेश अग्रवाल ने बताया कि पोलियो का टीका नियमित टीकाकरण कार्यक्रम में भी शामिल है। पल्स पोलियो का ड्रॉप जन्म के समय ही दिया जाता है। इसके अलावा छह, दस और चौदह सप्ताह पर भी यह ड्रॉप पिलाया जाता है। इसकी बूस्टर खुराक सोलह से चौबीस महीने की आयु में भी दी जाती है।

खबरें और भी हैं...