शहीदों के नाम पर मेला कमेटी डकार रही लाखों रुपये:धरने पर बैठे भाजपाई, नगरपालिका प्रशासन पर फ्री मैदान देने का आरोप

मवाना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेरठ के मवाना नगर में शहीदों की याद में हर साल लगने वाली प्रदर्शनी को संचालित करने वाली समिति पर गंभीर आरोप लगाते हुए पूर्व ठेकेदार साबिर कुरैशी और भाजपाईयों ने लाखों रूपये हड़पने का आरोप लगाते हुए धरना दिया। चेतावनी दी है कि किसी भी सूरत में मंगलवार को नगर में शहीद प्रदर्शनी का उद्घाटन नहीं होने दिया जाएगा। ठेकेदार ने भी एसडीएम मवाना से लिखित शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग उठाई है।

उधर, इस मामले में एसडीएम मवाना ने मेला समिति को नोटिस भेजकर आरोपों के संबंध में स्पष्टीकरण भी मांगा था। गौरतलब है कि तहसील मैदान में हर साल शहीद चंद्रभान प्रदर्शनी लगाई जाती है। प्रदर्शनी में काम करने वाले ठेकेदार साबिर पुत्र इदरीश निवासी मोहल्ला कल्याण सिंह ने एसडीएम को दिए शिकायती पत्र में बताया कि प्रदर्शनी को कमेटी के तीन सदस्य गजेन्दर पाल सिंह, असलम एडवोकेट एवं युसुफ कुरैशी संचालित करते हैं। अपनी निजि समझकर चलाते हैं। प्रत्येक साल 15–20 लाख रुपए का ठेका छोड़ते हैं और गुप्त रूप से झूलों आदि की कमाई में अलग से हिस्सा लेते हैं।

धरने पर बैठे ठेकेदार और भाजपाई।
धरने पर बैठे ठेकेदार और भाजपाई।

कोषाध्यक्ष खर्च भी ठेकेदार से वसूलते हैं
प्रदर्शनी में होने वाले सभी कार्यक्रमों संपत्ति ठेका छोड़ने के लिए सार्वजनिक समिति कोषाध्यक्ष खर्च भी ठेकेदार से वसूलते है। मेला संचालित करने वाले तीनों लोग नाम मात्र की रकम दिखाकर वास्तविक रकम को स्वयं हड़प जाते हैं। ठेकेदार एवं धरने पर बैठे भाजपाई राजेन्द्र चौहान आदि ने बताया कि शहीदों के नाम पर लगने वाली शहीद चंद्रभान प्रदर्शनी पर ठेका छोड़ कर लाखों रूपये हड़प रहे हैं।

मेला संचालित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की
​​​​​​​
पीड़ित ठेकेदार साबिर ने एसडीएम अखिलेश यादव को दिए पत्र में समिति आय-व्यय का ब्यौरा मांगने जांच करने की मांग उठाई जाने के साथ मेला संचालित करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग की है। एसडीएम ने कमेटी पदाधिकारियों को आरोपों के संबंध में स्पष्टीकरण भी मांगा था। धरनारत भाजपाईयों ने गबन की जांच होने तक शहीद प्रदर्शनी पर रोक लगाई जाने की मांग उठाई है।