मेरठ में युवक को जिंदा जलाया, तड़प-तड़प कर हुई मौत:घर से नौकरी के लिए निकला था, गांव के बाहर खेत में 85% जला मिला; मरने से पहले बोला- मुझे केरोसिन डालकर जलाया

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस घटनास्थल की जांच करती हुई। पुलिस प्रेम प्रसंग के एंगल पर भी जांच कर रही है। (इनसेट में मृतक योगेंद्र) - Dainik Bhaskar
पुलिस घटनास्थल की जांच करती हुई। पुलिस प्रेम प्रसंग के एंगल पर भी जांच कर रही है। (इनसेट में मृतक योगेंद्र)

मेरठ में शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे एक खौफनाक घटना सामने आई है। यहां एक 29 साल के युवक को उसी के गांव के बाहर जिंदा जला दिया गया है। खेत पहुंचे किसान ने युवक तड़पते हुए देखा तो पुलिस को सूचना दी। 85 प्रतिशत जले युवक को पुलिस मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंची। इलाज के दौरान की उसकी मौत हो गई।

युवक ने मरने से पहले बयान में कहा कि मुझे केरोसिन डालकर जिंदा जला दिया गया। उधर, पुलिस की छानबीन में घटनास्थल में केरोसिन के कोई निशान नहीं मिले हैं। पुलिस ने दूसरे स्थान पर जलाकर फेंकने की आशंका जताई है। अब पुलिस प्रेम प्रसंग के एंगल पर भी जांच कर रही है।

खेत में 85 प्रतिशत जला मिला युवक
मामला खरखौदा थाना क्षेत्र के बिजौली गांव का है। यहां योगेंद्र (29) पुत्र गिरिराज शर्मा अपने छोटे भाई विकास, बहन और मां के साथ रहता था। बताया जा रहा है कि योगेंद्र गाजियाबाद स्थित एक शोरूम में जॉब करता था। योगेंद्र 7 अगस्त को अपने घर से गाजियाबाद गया था। गुरुवार को परिजनों की योगेंद्र से मोबाइल पर बात भी हुई।

योगेंद्र शुक्रवार सुबह करीब 8 बजे गांव के ही वीरेंद्र के खेत के नलकूप के पास 85 प्रतिशत जला हुआ मिला। खेत पहुंचे वीरेंद्र ने तड़पते हुए योगेंद्र को देखा तो पुलिस को सूचना दी। मौके पर इंस्पेक्टर संजय शर्मा पहुंचे। योगेंद्र ने बताया कि जबरन केरोसिन डालकर मुझे यहां जिंदा जला दिया गया। आनन-फानन पुलिस युवक को मेरठ के मेडिकल कॉलेज लेकर पहुंची। यहां उपचार के दौरान योगेंद्र की मौत हो गई।

खंगाली जा रही कॉल डिटेल

घटना की सूचना पर सीओ किठौर बृजेश सिंह भी मौके पर पहुंचे। सीओ ने बताया कि मौके पर जलाए जाने के कोई भी साक्ष्य नहीं मिले हैं। केरोसिन की दुर्गंध भी नहीं आ रही थी। ऐसे में आशंका है कि युवक को दूसरे स्थान पर जलाया गया और गांव के बाहर ट्यूबवेल के बाहर फेंका गया है। पुलिस युवक की कॉल डिटेल के आधार पर जांच कर रही है। पुलिस पेट्रोल से जलाए जाने की आशंका जता रही है। पोस्टमॉर्टम के बाद मौत का कारण स्पष्ट हो जाएगा।

प्रेम प्रसंग को लेकर भी की जा रही जांच
इंस्पेक्टर संजय शर्मा का कहना है कि मामले की जांच की जा रही है। पुलिस यह भी मान रही है कि युवक को जलाने वाले नजदीकी के हो सकते हैं। घटना के खुलासे के लिए 2 टीमें लगाई गई हैं। वहीं, सीओ किठौर बृजेश सिंह का कहना है कि कई बिंदुओं पर गहनता से जांच चल रही है। युवक नाजुक हालत में था, जिसकी अस्पताल में मौत हो गई।

मृतक अविवाहित था, ऐसे में मोबाइल की कॉल डिटेल के आधार पर प्रेम प्रसंग को लेकर भी जांच की जा रही है। परिवार के लोगों को नहीं पता है कि युवक गाजियाबाद से गांव के बाहर कैसे आया।

खबरें और भी हैं...