हथियारों की तस्करी को लेकर मेरठ पहुंची चंडीगढ़ पुलिस:मेरठ के राधना गांव में पहले भी एटीएस और एनआईए कर चुकी है छानबीन, मकान मालिक बोला 1.20 लाख रुपये भी ले गई टीम

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राधना गांव में इसी घर में मारा गया छापा - Dainik Bhaskar
राधना गांव में इसी घर में मारा गया छापा

मेरठ जिले के गांव राधना में मंगलवार को चंडीगढ़ पुलिस ने हथियारों की तस्करी को लेकर छापा मारा। सादा कपड़ों में 3 टीम अलग अलग बार में दो घरों में पहुंची। पूरे मामले में पुलिस अधिकारियों ने कुछ भी बोलने पर चुप्पी साध ली है।

हथियार तस्करी के लिए चर्चित है राधना

मेरठ के किठौर क्षेत्र का राधना गांव मुस्लिम बाहुल्य गांव है। इस गांव में इसी साल एनआईए व एटीएस भी छापा मार चुकी है। जहां के कुछ संदिग्ध लोगों पर जांच एजेंसियों की नजर है। मंगलवार को एक मकान मालिक ने टीम पर 1.20 लाखरुपये की ले जाने का आरोप लगाया।

हथियार तस्करी को लेकर पहुंची चंडीगढ़ पुलिस

मेरठ जनपद के थाना किठौर क्षेत्र के गांव राधना इनायतपुर में चंडीगढ़ पुलिस काफी फोर्स के साथ गांव के मोहल्ला पीरपंजी ख़िलापत के घर पहुंची। जहां टीम ने मशीन आदि से घरों की जांच की। लेकिन टीम को घर से कुछ बरामद नही हुआ। वही घर की महिलाओं ने टीम पर घर रखा कैश ले जाने का आरोप लगाया। परिवार के लोगों ने बताया कि ख़िलापत का पुत्र अकबर ट्रक चालक है।

एनएआई के छापे की चलती रहीं चर्चा

सोशल मीडिया पर एनआईए के छापे की सूचना चलती रही। कभी बाद में अधिकारियों ने बताया की चंडीगढ़ पुलिस के पहुंचने की सूचना मिली थी। जांच करने टीम पहुंची थी। टीम ने गांव में ही जलीस पुत्र अनीस के मकान पर छापा मारते हुए घर की महिलाओं से जलीस के बारे में जानकारी करते हुए घर की बारीकी से जांच की। यहां भी टीम को घर से कुछ नही मिला। मोहम्मद जलीस भैसों की खरीद फरोख्त का कार्य करने के अलावा आम के बागों की ठेकेदारी करता है। अवैध हथियार पकड़े जाने की भी चर्चा चलती रही।

खबरें और भी हैं...