50 हजार का इनामी अक्षय गुजरात से गिरफ्तार:मेरठ में बसपा कार्यकर्ता की गोली बरसाकर की थी हत्या, ढ़ाई माह से चल रहा था फरार

मेरठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ के इंचौली थाने में पुलिस के साथ इनामी अक्षय - Dainik Bhaskar
मेरठ के इंचौली थाने में पुलिस के साथ इनामी अक्षय

मेरठ में 28 अगस्त को बसपा कार्यकर्ता मनोज चौधरी की पड़ोसी के घर में गोली बरसाकर हत्या कर दी गई थी। बसपा कार्यकर्ता की हत्या करने वाले 50 हजार के इनामी अक्षय को पुलिस ने गुजरात से गिरफ्तार कर लिया है। सीओ सदर देहात पूनम सिरोही ने बताया की इंचौली पुलिस ने 50 हजार के इनामी को गुजरात से गिरफ्तार किया है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया की अक्षय मेरठ में रहता था। घटना के बाद गुजरात भाग गया था। अक्षय अनुज का दोस्त भी रहा। मुख्य आरोपी अतुल अभी भी फरार है, जिसकी तलाश पुलिस कर रही है।

28 अगस्त को की थी हत्या

इंचौली थाना क्षेत्र के चिंदौड़ी गांव निवासी मनोज चौधरी ( 50) पुत्र रतन सिंह बसपा का कार्यकर्ता था। जो बसपा के कार्यक्रमों में भी शामिल रहता था। मनोज चौधरी ने गांव में इस बार प्रधान पद का चुनाव भी लड़ा था। जिसमें मनोज चौधरी अपने गांव के संदीप चौधरी से चुनाव हार गया था। संदीप चौधरी गांव का प्रधान बना।

28 अगस्त 2021 की शाम बसपा कार्यकर्ता अपने घर से 50 मीटर की दूरी पर पड़ोसी हरेंद्र के घर पर चारपाई पर बैठा था। दूसरी चारपाई पर हरेंद्र भी बैठा था। तभी हमलावर पहुंचे और पिस्टल व तमंचे से मनोज चौधरी पर ताबड़तोड़ गोली बरसा दी। गोलियों से आवाज सुनकर हरेंद्र ने घर के कमरे में छिपकर जान बचाई। बसपा कार्यकर्ता को 6 गोली लगी थी, जिसकी मौके पर ही मौत हो गई थी।

22 साल का अतुल है मुख्य आरोपी

एसपी देहात केशव कुमार का कहना है की मुजफ्फरनगर के मंसूरपुर थाना क्षेत्र के फीमपुर गांव निवासी अमित चौधरी की चिंदौड़ी गांव में ससुराल है। 15 साल पहले अमित चौधरी की मेरठ में लावड़ चिंदौड़ी मार्ग पर गोलियों से भूनकर हत्या कर दी गई थी। तभी से अमित चौधरी के परिवार को यह संदेह था की मनाेज चौधरी ने हत्या के लिए मुखबिरी की है। उस समय अमित चौधरी का बेटा अतुल 7 साल का था। जिसके बाद अमित चौधरी की हत्या के बाद बेटा अपनी मां के पास चिंदौड़ी गांव में ननिहाल में रहने लगा। जहां अतुल अपने मां के साथ अपने मामा के गांव चिंदौड़ी में खेती करने लगा। 28 अगस्त को अतुल ने अपने साथियों के साथ मिलकर बसपा कार्यकर्ता मनोज चौधरी की गोलियों से भूनकर हत्या कर दी।

पिता की मौत के बदले की थी हत्या

बसपा नेता मनोज चौधरी की हत्या पड़ोसी हरेंद्र के घर में की गई हरेंद्र इस हत्याकांड में चश्मदीद है। पुलिस का कहना है की हरेंद्र ने बताया था की 22 साल के अतुल पुत्र अमित चौधरी निवासी गांव फीमपुर, थाना मंसूरपुर जिला मुजफ्फरनगर हाल पता चिंदौड़ी गांव ने वारदात को अंजाम दिया है। जिसमें अतुल ने कहा की मनोज तूने मेरे पिता की हत्या कराई थी। ले आज मैं 15 साल पुराना बदला ले रहा हूं। जब तक मनोज कुछ समझ पाता, उससे पहले ही अतुल और अन्य ने मनोज को गोलियों से भून दिया।

5 आरोपी जा चुके हैं जेल

एसएसपी मेरठ प्रभाकर चौधरी ने बताया की मनोज चौधरी के भाई अशोक कुमार ने इंचौली थाने में हत्या का केस दर्ज कराया था। हत्या के मामले में 5 आरोपी जेल जा चुके हैं।

इन्हें भेजा जा चुका है जेल

  • कपिल गोस्वामी पुत्र मदन गिरी
  • अरूण पुत्र प्रताप
  • ओमपाल पुत्र जबर सिंह
  • अनुज कुमार उर्फ चीकू
  • नगेंद्र उर्फ लौकी पुत्र ओमपाल जेल जा चुके हैं
  • अक्षय कुमार निवासी ग्राम विरूना थाना दीसा देहात जनपद बनासकांठा गुजरात को गुजरात से गिरफ्तार किया है।