फॉरेंसिक रिपोर्ट खोलेगी बच्ची की मौत के राज:मेरठ में बेड से गिरकर गई थी जान, पोस्टमार्टम में नहीं पता चली मौत की वजह

मेरठ10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेरठ के लिसाड़ीगेट इलाके में 11 नवंबर की शाम 8 साल की बच्ची की मौत हो गई थी। इस मामले में पुलिस भी अब उलझ गई है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बच्ची की मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। ऐसे में बिसरा जांच के लिए गाजियाबाद की फॉरेंसिक लैब निवाड़ी भेजा जाएगा। घटना के समय घर पर मां ही थी। मां ने पति से बताया था कि बेटी की बेड से गिरकर मौत हो गई। इसके बाद बच्ची के पिता ने अनहोनी की आशंका पर पुलिस बुलाई। संदेह जताते हुए पोस्टमार्टम कराने की मांग की थी।

यह है पूरा मामला
लिसाड़ीगेट थाना क्षेत्र के प्रहलादनगर निवासी दीपक सराफा का काम करते हैं। दीपक 11 नवंबर की सुबह काम पर गया था। दीपक की पहली पत्नी की मौत हो चुकी है। एक साल पहले ही दीपक ने शीतल से दूसरी शादी की। शीतल की भी दूसरी शादी थी। पहले पति से 8 साल की बच्ची थी, जिसे वह दूसरे पति के यहां साथ लेकर रह रही थी।

11 नवंबर को घर में पत्नी शीतल और बच्ची पंखुड़ी थी। शाम पांच बजे शीतल ने पति को फोन पर बताया कि बच्ची बेड से गिर गई। सूचना पर दीपक पहुंचे तो देखा की बच्ची मृत हालत में थी। इसके बाद दीपक ने पुलिस को सूचना दी। सूचना पर इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट उत्तम सिंह राठौर और यूपी-112 की पुलिस टीम मौके पर पहुंची। पुलिस ने घटना की जानकारी ली।

सवा फीट ऊंचाई से गिरने मौत बनी रहस्य
8 साल की बच्ची की बेड से गिरकर मौत के मामले में दीपक को संदेह हुआ। दीपक का कहना है कि बेड की ऊंचाई करीब सवा फीट है। ऐसे में उस पर से गिरकर बच्ची की मौत नहीं हो सकती। पुलिस को भी बच्ची की मौत पर संदेह गहराया। इसके बाद इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट उत्तम सिंह राठौर खुद जांच करने मौके पर पहुंचे। लेकिन, परिजनों की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई। उच्च अधिकारियों के कहने पर पुलिस ने बच्ची के शव का पोस्टमार्टम कराया। शुक्रवार देर शाम पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट देगी।

बिसरा सुरक्षित रखा
8 साल की बच्ची की मौत का राज पोस्टमार्टम रिपोर्ट से नहीं खुला। संदेह है कि बच्ची को कोई जहरीला पदार्थ दिया गया। इसी के चलते बिसरा सुरक्षित रखते हुए गाजियाबाद की फॉरेंसिक लैब भेजा जाएगा। पुलिस का कहना है कि सिर में कोई भी चोट का निशान नहीं मिला। गुम चोट का निशान भी नहीं मिला।

इंस्पेक्टर लिसाड़ीगेट उत्तम सिंह राठौर ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से बच्ची की मौत का कारण स्प्ष्ट नहीं हो सका है। पुलिस बिसरा जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजने का काम कर रही है। प्रथम दृष्टया किसी जहरीले पदार्थ से बच्ची की मौत हुई है। इस संबंध में कोई भी तहरीर पुलिस को नहीं दी गई है।