स्टूडेंस के काम की खबर:मेरठ विश्वविद्यालय के स्नातक और परास्नातक में कई पाठ्यक्रमों के परीक्षा कार्यक्रम जारी, BPED के परीक्षा केंद्र भी घोषित किए गए

मेरठ5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीसीएसयू का बीएएमएस,एमडी, एमएस, बीयूएमएस, बीपीएड, एमकॉम, एमए का एग्जाम

मेरठ के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय ने स्नातक और परास्नातक में कई पाठ्यक्रमों के परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिए हैं। विभिन्न विषयों के मुख्य व सप्लीमेंट्री की परीक्षाओं का कार्यक्रम जारी कर दिया है। छात्र विवि की बेवसाइट https://ccsuniversity.ac.in पर अपने पाठ्यक्रम संबंधी परीक्षाओं का कार्यक्रम देख सकते हैं। बीएएमएस, एमडी, एमएस, बीयूएमएस की मुख्य व सप्लीमेंट्री की परीक्षाएं 12 जुलाई से होंगी। मेरठ के चौधरी चरण सिंह विवि से 09 जिलों के छात्र सीधे प्रभावित होते हैं।

यहां गौतमबुद्ध नगर, हापुड़, गाजियाबाद, मेरठ, शामली, सहारनपुर, मुजफ्फरनगर से लेकर आसपास के अन्य जिलों के छात्र भी पढ़ाई करने आते हैं। कई छात्र विवि कैम्पस ेंं ही प्रवेश लेकर पढ़ाई करते हैं। सहारनपुर मंडल और मेरठ मंडल के सभी जिलों में 500 से ज्यादा डिग्री कॉलेज सीसीएसयू से संबंद्ध हैं।

बीपीएड के परीक्षा केंद्रों की लिस्ट भी जारी
सीसीएसयू ने बीपीएड सेंकेड ईयर सत्र 2119-21 का संशोधित परीक्षा कार्यक्रम जारी करते हुए परीक्षा केंद्रों की सूची जारी कर दी है। बीपीएड के पेपर 16 से 26 जुलाई तक 3.30 से पांच बजे की पाली में होंगे। छात्र परीक्षा कार्यक्रम वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं। इसके साथ ही विवि ने परीक्षा केंद्र की लिस्ट भी जारी कर दी है। पहले यह परीक्षाएं 8 जुलाई से रखी गईं थी, जिसे अब बदल दिया गया है।
कामर्स, लॉ का भी कार्यक्रम हुआ तय
एमए, एमकॉम के पेपर 09 जुलाई से होंगे।एमए-एमकॉम ओल्ड की परीक्षाएं नौ जुलाई से सात अगस्त तक 12.30 से दो बजे की पाली में होंगे। संशोधित परीक्षा कार्यक्रम विवि वेबसाइट से प्राप्त किया जा सकता है।बीकॉम-एलएलबी प्रथम सेमेस्टर, तृतीय एवं पंचम सेमेस्टर का रिजल्ट जारी कर दिया है। छात्र विवि वेबसाइट से अपना रिजल्ट देख सकते हैं। विवि में यह परीक्षाएं दिसंबर में हुई थीं।

कम छात्र वाले विषयों में ऑब्जेक्टिव पैटर्न के पेपर नहीं होंगे
चौधरी चरण सिंह विवि में अंतिम वर्ष के ट्रेडिशनल कोर्स में कम छात्रों वाले पेपर में ऑब्जेक्टिव पैटर्न पर पेपर नहीं होंगे। ऐसे विषयों में केवल विस्तृत उत्तरीय पैटर्न पर होगी। पेपर तीन घंटे के बजाय डेढ़ घंटे का ही होगा। बाकी वार्षिक फाइनल इयर के पेपर ऑब्जेक्टिव पैटर्न पर ही होंगे। छात्रों को इनमें सौ में से कोई 75 सवालों के जवाब देने होंगे।

अलग-अलग पार्ट में होंगे पेपर, अंक भी अलग

  • एमए अंतिम वर्ष गणित में डेढ़ घंटे का पेपर होगा। पेपर में दस में दो सवालों को हल करना होगा। प्रथम प्रश्न अनिवार्य होगा। प्रत्येक प्रश्न 37.5 अंक का होगा।
  • बीएससी फिजिकल एजुकेशन, हेल्थ एजुकेशन, स्पोटर्स में खंड अ के विस्तृत उत्तरीय के छह प्रश्नों में से दो, ब में तीन में एक, खंड स में सभी पांच प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। खंड अ प्रत्येक 15, ब में दस और स में दो अंक का प्रत्येक सवाल होगा।
  • इसी तरह बीएससी फाइनल कंप्यूटर साइंस में विभिन्न कोड के पेपर पांच खंडों में रहेंगे। खंड अ लघु उत्तरीय सेक्शन में दस में कोई पांच प्रश्न हल करने होंगे। हर प्रश्न चार-चार अंक का होगा। ब, स, दस एवं ई विस्तृत उत्तरीय सेक्शन में प्रत्येक खंड में दो-दो प्रश्न होंगे। खंड ब एवं स से एक प्रश्न, खंड द एवं ई से भी एक प्रश्न हल करना होगा। प्रत्येक प्रश्न 15 अंक का होगा।
  • बीए, बीएससी, बीकॉम सेकेंड ईयर में में पेपर अ, ब, स, द एवं ई सेक्शन में होंगे। अ में दस में से कोई पांच, ब एवं स से एक और द एवं ई से एक प्रश्न का उत्तर देना होगा। पेपर 50 नंबर का होगा। बीए सेकेंड ईयर उर्दू का पेपर 50 नंबर का होगा। खंड अस से पांच, खंड ब से दो और अंतिम प्रश्न अनिवार्य होगा।

हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत के पेपर में भी किया बदलाव

  1. सीसीएसयू ने फाउंडेशन कोर्स के पेपरों का पैटर्न भी बदला है। फाउंडैशन कोर्स का पेपर 100 अंकों का रहेगा। सेकेंड ईयर में हिन्दी में सात में से चार प्रश्न के उत्तर देने होंगे। प्रश्न एक और दो अनिवार्य रहेगा। प्रश्न तीन, चार, पांच, छह एवं सात में से कोई दो प्रश्न हल करने होंगे। प्रश्न एक 30 प्रश्न दो 40 और प्रश्न तीन, चार, पांच, छह एवं सात प्रत्येक 15-15 अंक का होगा।
  2. अंग्रेजी के पेपर में सात में से कोई चार सवाल हल करने होंगे। एक और दो नंबर अनिवार्य होगा। तीन, चार, पांच, छह एवं सात में से कोई दो सवाल हल करने होंगे। प्रश्न एक 40, प्रश्न दो 20 और तीन, चार, पांच, छह एवं सात प्रत्येक 20-20 अंक का होगा।
  3. संस्कृत में सभी प्रश्न अनिवार्य होंगे। प्रश्न एक में किसी एक मंत्र, दो में कोई एक श्लोक, तीन में किसी एक खंड का हिन्दी में अर्थ, चार के भाग क में किसी एक पर टिप्पणी, भाग ख में किन्ही दो के पर्यायवाची, प्रश्न पांच में दस सवालों में से कोई पांच हल करने होंगे। प्रश्न एक, दो एवं तीन 20-20 अंक, प्रश्न चार के दस और पांच के 30 अंक रहेंगे।
खबरें और भी हैं...