मोदी की समुद्री जैसी सुरक्षा:मेरठ में PM मोदी के कार्यक्रम को लेकर गंगनहर में कमांडो व NDRF रहेगी तैनात, जमीन पर फोर्स तो पानी में बोट से निगरानी

मेरठ6 महीने पहलेलेखक: मनु चौधरी
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम स्थल के पास गंगनहर म - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम स्थल के पास गंगनहर म

मेरठ के सलावा में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 2 जनवरी को यूपी के पहले खेल विश्वविद्यालय का शिलान्यास करेंगे। कार्यक्रम में देशभर से 25 हजार खिलाड़ियों समेत एक लाख लोगों के कार्यक्रम में शामिल होने का दावा किया किया जा रहा है। प्रधानमंत्री के जनसभा सलावा में गंगनहर के किनारे होनी है। यहीं पर मेजर ध्यानचंद के नाम पर खेल विश्वविद्यालय की नींव रखी जानी है। जनसभा को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की समुद्री जैसी सुरक्षा का प्लान बनाया गया है।

NDRF व एसडीआरएफ की 8- 8 टीमें
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ भी कार्यक्रम में शामिल रहेंगे। कार्यक्रम गंगनहर के किनारे रखा गया है। इसको लेकर पुलिस व प्रशासन ने सुरक्षा का पूरा प्लान तैयार किया है। एसपी देहात केशव कुमार, के अलावा मुजफ्फरनगर के पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने भी जनसभा स्थल व हैलीपेड पर सुरक्षा व्यवस्था का देखी। गंगनहर में करीब 14 फीट पानी चल रहा है। पानी का बहाव भी तेज रहा है।

पीएम की सुरक्षा के साथ ही नहर में कोई भी व्यक्ति गिरने न पाये इसके लिए अलर्ट किया गया है। नेशनल डिजास्टर रिस्पांस फोर्स (NDRF)व स्टेट डिजास्टर रिस्पांस फोर्स ( SDRF)की आठ - आठ टीमें तैनात रहेंगी। जहां बोट गंगनहर में रहेंगी। इन बोट पर पीएसी के गोताखोर के अलावा स्पेशल कमांडो भी रहेंगे।

3 किमी में 3500 पुलिसकर्मी रहेंगे तैनात
एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया ने बताया की सुरक्षा को लेकर कड़े बंदोबस्त रहेंगे। कार्यक्रम स्थल के 3 किमी के दायरे में भारी संख्या में फोर्स रहेगी। 7 एसपी रैंक के अधिकारी, 12 एडिशन एसपी रैंक के अधिकारी, 20 सीओ, 50 इंस्पेक्टर/थाना प्रभारी, 7 कंपनी पीएसी, 500 दरोगा व हेड कांस्टेबल, 500 महिला पुलिसकर्मी व ट्रैफिक कर्मी रहेंगे। दो हजार सिपाहियों की ड्यूटी रहेगी।

कार्यक्रम मेरठ व हैलीपेड मुजफ्फरनगर की सीमा में
कार्यक्रम स्थल, हैलीपेड, गंगनहर पटरी मार्ग से लेकर एनएच-58 पर भी सुरक्षा कड़ी रहेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व सीएम योगी आदित्यनाथ विमान से कार्यक्रम स्थल पर पहुंचेंगे। कार्यकम स्थल सलावा में गंगनहर किनारे मेरठ जिले की सीमा में है। जबकि हैलीपेड कार्यक्रम स्थल से 1500 मीटर दूर मुजफ्फरगनर जिले की सीमा में बनाए गये हैं।

हैलीपेड बनाते कर्मचारी
हैलीपेड बनाते कर्मचारी

एसपी देहात केशव कुमार ने बताया की पीएम के विमान को लेकर 3 हैलीपेड बनाए गये हैं। चौथा हैलीपेड सीएम के हेलीकॉप्टर को लेकर बनाया गया है। सभी हैलीपेड डबल लेयर ईंट की परत से बनाए गए हैं। एक हैलीपेड से दूसरे हैलीपेड के बीच 60 मीटर का अंतर रखा गया है। एनएच-58 से सड़क मार्ग पर भी सुरक्षा कड़ी रहेगी।

कैनाल फ्रंट तैयार किया गया

गंगनहर की पटरी पर टायल्स लगाते मजदूर
गंगनहर की पटरी पर टायल्स लगाते मजदूर

कार्यक्रम स्थल के पास गंगनहर पर वाटर कैनाल फ्रंट तैयार किया गया है। यहां अलग अलग रंगों से सजावट का कार्य किया जा रहा है। गंगनहर की झाल व पुल को भी अलग अलग रंगों में रंगा गया है। गंगनहर किनारे पीएम के लिए पिकनिक स्पॉट तैयार किया जा रहा है। यहां फूल, पत्ती के अलावा सेल्फी प्वाइंट, झोंपड़ी, रैंप बनाए जा रहे हैं। जिससे पीएम यहां प्रकृति का आनंद ले सकें।

कमिश्नर का बयान

मेरठ मंडल के कमिश्नर सुरेंद्र सिंह ने बताया की कार्यक्रम स्थल को लेकर सुरक्षा संबंधी पूरा प्लान तैयार किया गया है। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों की अलग अलग जिम्मेदारी निर्धारित की गईं हैं। फोर्स का ड्यूटी चार्ट तैयार कर लिया गया है। दूसरे जिलों से भी फोर्स रहेगी।

खबरें और भी हैं...