मेरठ में जयंत- अखिलेश की रैली में भगदड़:मंच पर पहुंचने के लिए भीड़ की अराजकता,  जयंत की रिश्ते की 85 साल की बुआ चोटिल, तस्वीरों में देखें रैली की भगदड़

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
रैली में भीड़ को देखकर एक दूसरे का हाथ थामे जयंत चौधरी व अखिलेश यादव - Dainik Bhaskar
रैली में भीड़ को देखकर एक दूसरे का हाथ थामे जयंत चौधरी व अखिलेश यादव

मेरठ के दबथुआ में हुई सपा व रालोद की रैली में मंगलवार को अराजकता भी खूब हुई। भीड़ मंच पर चढ़ने के लिए बैरिकेडिंग तोड़ते हुए आगे बढ़ गई। रालोद के मुखिया जयंत चौधरी मंच पर कुछ पहले पहुंच गये, जैसे ही सपा कार्यकर्ताओं ने देखा की अखिलेश यादव मंच पर नहीं आये। 70-80 कार्यकर्ता मंच की तरफ बैरिकेडिंग तोड़कर मंच की तरफ बढ़ने लगे।

गठबंधन को लेकर हाथ पकड़कर भीड़ देखते जयंत व अखिलेश यादव
गठबंधन को लेकर हाथ पकड़कर भीड़ देखते जयंत व अखिलेश यादव
रैली में मीडिया कर्मियों की गैलरी तक पहुंची भीड़
रैली में मीडिया कर्मियों की गैलरी तक पहुंची भीड़

देखते ही देखते रैली में मंच के पास भगदड़ मच गई। इस दौरान दोनों ही पार्टी के नेताओं ने भीड़ को समझाने का प्रयास किया। लेकिन उसके बाद भी कार्यकर्ता हंगामा करने लगे। आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अखिलेश यादव व जंयत चौधरी की यह पहली गठबंधन रैली हुई। अराजकता इस तरह फैली की लोग मंच पर चढ़ गये। मीडिया कवरेज के लिए बनाया गया मंच भी तोड़ दिया गया। जिसमें पत्रकारों को भी चोट लगी। रालोद व सपा नेताओं ने तो कटआउट लगवाये थे वह भी तोड़ दिए गये। भीड़ बस मंच तक पहुंचना चाहती थी।

जयंत की रिश्ते की बुआ घायल

जयंत चौधरी के रिश्ते की बुआ राजवीरी, जिन्हें चोट लगी
जयंत चौधरी के रिश्ते की बुआ राजवीरी, जिन्हें चोट लगी

मेरठ के रोहटा क्षेत्र की रहने वाली राजवीरी चौधरी (85 साल) मंगलवार को रैली में पहुंची थी। वह अपने साथ चौधरी चरण सिंह, अजित सिंह के पुराने खुद के पुराने फोटो भी दिखाये। यह मंच के पास बैठी थी। जैसे ही भगदड़ मची और डी घेरे में कार्यकर्ता बैरिकेडिंग तोड़ने लगे। भदगड़ के जयंत चौधरी की बुआ के हाथ व पैर में चोट लग गई। वह गिर कर घायल हो गईं।

रैली में पहुंची भीड़
रैली में पहुंची भीड़

जिसके बाद रालोद के कार्यकर्ताओं ने उन्हें उठाया। उन्होंने बताया की मुझे जयंत से नहीं मिलने दिया, मैं पिछले 70 साल से इस परिवार के साथ कार्यक्रमों में पहुंचती रही हूं। जब चौधरी चरण सिंह छपरौली से चुनाव लड़ते थे तो बैल बुग्गी से रैली में लोग आते थे।

भगदड़ में महिलाओं को हुई परेशानी

एक घंटे तक रैली में अफरा तफरी का माहौल बना रहा। दोनों ही पार्टी रालोद व सपा की तरफ से आयोजन था। लेकिन भगदड़ मची तो रालोद के नेता सपा र्काकर्ताओं पर भगदड़ का आरोप आरोप लगाने लगे। रैली में महिलाओं को लेकर अलग से बैरिकेडिंग नहीं की थी।

दस जिलों के पहुंचे कार्यकर्ता

मंच पर चढ़कर खींचतान करते लोग
मंच पर चढ़कर खींचतान करते लोग

रैली में सहारनपुर, मुजफ्फरनगर, शामली, मेरठ, बिजनौर, गाजियाबाद, हापुड़, बुलंदशहर, नोएडा, बागपत के कार्यकर्ता पहुंचे। रैली के लिए अलग अलग जिलों के लिए बस भी लगाई गईं थी। वहीं ट्रैक्टर ट्राली व अपने निजी वाहनों से भी किसान पहुंचे।

रैली को संबोधित करते जयंत चौधरी
रैली को संबोधित करते जयंत चौधरी