पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट की जांच करने शामली पहुंची NIA:3 आरोपियों को लेकर पहुंची एनआईए की टीम ने की छापेमारी; किराने की दुकान चलाने वाले युवक को किया गिरफ्तार, कैराना कोतवाली में चल रही पूछताछ

शामलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर हुए पार्सल ब्लास्ट मामले में एनआईए की टीम 3 आरोपियों को लेकर पहुंची शामली। एक अन्य आरोपी को किया गिरफ्तार। - Dainik Bhaskar
बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर हुए पार्सल ब्लास्ट मामले में एनआईए की टीम 3 आरोपियों को लेकर पहुंची शामली। एक अन्य आरोपी को किया गिरफ्तार।

दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले की जांच कर रही राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनआईए) की टीम तीनों आरोपियों को लेकर उत्तर प्रदेश के कैराना (शामली ) पहुंची। ब्लास्ट के आरोपियों की निशानदेही पर एनआईए टीम ने कैराना में छापेमारी कर एक युवक को हिरासत में लिया है। जिससे पूछताछ की जा रही है। जबकि, दरभंगा ब्लास्ट मामले में एनआईए की टीम पहले ही 2 सगे भाईयों सहित 4 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है।

आरोपियों को पकड़ने एनआईए टीम ने की छापेमारी

17 जून को बिहार के दरभंगा रेलवे स्टेशन पर हुए पार्सल ब्लास्ट के मामले में एनआईए की टीम लगातार आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है। इसी क्रम में बुधवार को टीम कैराना पहुंची। टीम मामले की जांच के लिए अपने साथ ब्लास्ट के आरोरी दो सगे भाईयों नासिर मलिक व इमरान मलिक सहित कफील अहमद को अपने साथ लेकर पहुंची थी। टीम ने स्थानीय पुलिस को साथ लेकर मोहल्ला बिसातियान आलखुर्द स्थित कफील के मकान पर छापेमारी की। इस बीच मकान के अंदर गिरफ्तारी को लेकर नक्शा बनाने के साथ जांच पड़ताल की।

किराने की दुकान चलाने वाले युवक को किया गिरफ्तार

इसके बाद एनआईए की टीम तीनों आरोपियों को लेकर खुरगान रोड पर पहुंची। जहां पर परचून की दुकान करने वाले इंतजार नाम के युवक को टीम ने हिरासत में लिया। फिर बाद में एनआईए की टीम चारों आरोपियों को लेकर कैराना कोतवाली पहुंची। जहां आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

एनआईए ने दो आरोपियों को कोर्ट में किया था पेश

एनआईए की टीम ने दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले के दो आरोपियों सलीम टुइयां व कफील को कैराना जिला न्यायालय में पेश किया था। न्यायालय ने दोनों आरोपियों की 5 दिन की ट्रांजिस्ट रिमांड दी थी। जिसके बाद एनआईए दोनों आरोपियों को लेकर पटना स्थित न्यायालय में पेश करने के लिए रवाना हो गई थी। दरभगा ब्लास्ट मामले में एनआईए की टीम ने पिछले दिनों हैदराबाद से दो सगे भाइयों नासिर मलिक व इमरान मलिक को भी गिरफ्तार कर लिया था। अभी तक जिन चारों आरोपियों की एनआईए की टीम ने गिरफ्तारी की है, उनके तार पाकिस्तानी आतंकी संगठन के साथ दरभंगा पार्सल ब्लास्ट मामले से जुड़े नजर आए थे।

स्पेशल ट्रेन के कोच से पार्सल उतारते ही हुआ था ब्लास्ट

घटना 17 जून की है। जब दरभंगा स्टेशन पर सिकंदराबाद से आई स्पेशल ट्रेन के पार्सल कोच से सामान उतारते ही एक बंडल में ब्लास्ट हो गया था। इस घटना को किसी बड़ी साजिश का ट्रायल के तौर पर देखा जा रहा है। 17 जून को दरभंगा स्टेशन पर यह घटना उस वक्त हुई थी, जब पार्सल बोगी से बंडल को प्लेटफॉर्म पर उतारा जा रहा था। अगर यही घटना चलती ट्रेन में होती तो बड़ा नुकसान होता। चलती ट्रेन में आग लग सकती थी।

खबरें और भी हैं...