पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेरठ में रंगदारी का मामला:कपड़ा कारोबारी नैय्यर से बदमाशों ने फोन पर 25 लाख की रंगदारी मांगी, पैसे न देने पर दी हत्या करने की धमकी, जांच के लिए चार टीमें गठित

मेरठ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लूटे गए मोबाइल फोन से बदमाशों ने कपड़ा कारोबारी को दी धमकी - Dainik Bhaskar
लूटे गए मोबाइल फोन से बदमाशों ने कपड़ा कारोबारी को दी धमकी

उत्तर प्रदेश के मेरठ में कपड़ा कारोबारी से 25 लाख रुपए की रंगदारी मांगने का मामला सामने आया है। जिस मोबाइल नंबर से रंगदारी मांगी गई है। वह फोन एक 17 साल के लड़के का है। जिसे बदमाशों ने काफी समय पहले लूट लिया था। बदमाशों से धमकी मिलने के बाद से कपड़ा कारोबारी के परिवार में खौफ है। पुलिस अधिकारियों ने घटना के खुलासे के लिए एसटीएफ, क्राइम ब्रांच समेत चार टीमें लगाई हैं।

पुलिस ने दर्ज किया केस

सतनाम सिंह नैय्यर की लालकुर्ती स्थित मुख्य बाजार में नैय्यर क्लॉथ हाउस के नाम से कपड़े की बड़ी शॉप है। पुलिस ने बताया कि बदमाशों ने कपड़ा कारोबारी से 25 लाख रुपए की रंगदारी मांगी है। रंगदारी न देने पर कारोबारी को हत्या करने की धमकी दी गई है। पीड़ित की तहरीर पर लालकुर्ती थाने में अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है।

लूटे गए फोन से बदमाशों ने दी थी धमकी

जिस नंबर से पीड़ित कारोबारी को रंगदारी के लिए कॉल की गई थी। पुलिस व सर्विलांस टीम ने उस नंबर की जांच की तो पता चला कि यह नंबर मेरठ के दौराला थाना क्षेत्र के चिरोड़ी गांव के व्यक्ति के नाम पर है।

एसओजी व लालकुर्ती पुलिस जब मौके पर पहुंची तो चिरोड़ी निवासी व्यक्ति ने बताया कि मेरे बेटे(17) वर्ष) से 4 जून को 2 बदमाशों ने पल्लवपुरम में मोबाइल लूट लिया था। जिसकी रिपोर्ट पल्लवपुरम थाने में भी दर्ज कराई गई है। पुलिस ने चिरोड़ी गांव निवासी मोबाइल नंबर की आईडी के मालिक को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

जांच में जुटी क्राइम ब्रांच की टीम

इंस्पेक्टर लालकुर्ती राकेश कुमार ने बताया कि कपड़ा कारोबारी से 25 लाख की रंगदारी मांगी गई है। मुकदमा दर्ज कर लिया गया है और जो मोबाइल नंबर है उस के गुम होने की रिपोर्ट पल्लवपुरम में दर्ज है। चिरोड़ी गांव में फोर्स बुधवार को दौराला क्षेत्र के चिरोड़ी गांव में भारी पुलिस फोर्स पहुंची। जिसमें इंस्पेक्टर लालकुर्ती राकेश कुमार, इंस्पेक्टर पल्लवपुरम देवेश शर्मा व क्राइम ब्रांच की टीम भी शामिल थी।

अचानक से पुलिस की कई गाड़ियों के गांव में पहुंचने पर अफरा-तफरी मच गई। पहले तो ग्रामीण और अन्य लोग कुछ समझ ही नहीं पाए कि आखिर मामला है क्या। बाद में पुलिस चिरोड़ी गांव निवासी देवेंद्र को हिरासत में लेकर आ गई। देवेंद्र के 17 वर्षीय बेटे का ही बाइक सवार बदमाशों ने मोबाइल छीना था। देवेंद्र के बेटे से भी पुलिस गोपनीय ढंग से पूछताछ कर रही है।

रंगदारी के लिए लूटा था मोबाइल

पुलिस, क्राइम ब्रांच के अलावा एसटीएफ बदमाशों की तलाश में लगी है। लेकिन बदमाशों ने पूरी प्लानिंग पहले से ही कर रखी है। उन्होंने योजनाबद्ध तरीके से पहले पल्लवपुरम क्षेत्र में 17 साल के लड़के से मोबाइल लूटा और फिर उसके नंबर से ही रंगदारी मांगी। ताकि पुलिस बदमाशों को न पकड़ पाए।

खबरें और भी हैं...