पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बागपत भाजपा सांसद के बेतुके बोल:डॉ. सत्यपाल सिंह बोले-सोशल मीडिया पर है चवन्नी छाप लोग, कुछ भी लिखते रहते हैं

बागपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वंय सहायता समूह की महिलाओं के साथ सांसद डॉ सत्यपाल सिंह। - Dainik Bhaskar
स्वंय सहायता समूह की महिलाओं के साथ सांसद डॉ सत्यपाल सिंह।

बागपत के सांसद सत्यपाल सिंह विपक्ष पर हमलावर रहे। छपरौली ब्लॉक में एक कार्यक्रम में पहुंचे सत्यपाल ने मीडिया से बातचीत में कहा कि सोशल मीडिया पर कुछ लोग चवन्नी छाप लोग हैं। कुछ भी लिखते रहते हैं। उन्होंने कहा कि जो भी झूठ बोलता है। वह अगले जन्म में इंसान नहीं बनेगा। साथ ही उसकी जुबान भी कटेगी। इसके बाद वह बोलेंगे ही नहीं। दरअसल, सत्यपाल का ये विवादित बयान इसीलिए सामने आया है क्योंकि यूपी और हरियाणा को जोड़ने वाले यमुना पुल को लेकर विपक्ष के लोगो द्वारा लगातार बयानबाजी की जा रही थी।

पुल को लेकर क्यों शुरू है राजनीति

यूपी के बागपत जनपद के छपरौली थाना क्षेत्र में टाण्डा गांव में एक पुल का निर्माण चल रहा है। जो हरियाणा के जनपद पानीपत के खोजकीपुर में निकलता है। ये पुल यूपी और हरियाणा की सीमा को जोड़ेगा। जिससे लोगो को आने जाने में सुविधा मिलेगी। यात्री कम समय मे यात्रा कर पाएंगे। जिससे बागपत से पानीपत जाने वाले लोगो को लगभग 30-35 किलोमीटर कम होगा। भाजपा सांसद डॉ सत्यपाल सिंह का दावा है कि इस पुल को बनाने में उनकी मुख्य भूमिका रही है। जबकि विपक्ष इस पर सवाल खड़े कर रहा है।

देश में पहली बार बागपत में वितरण किये गए ट्रैक्टर

डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी अबर्न मिशन के तहत सांसद डॉ. सत्यपाल सिंह और जिलाधिकारी बागपत राजकमल यादव ने छपरौली ब्लाक में स्वंय सहायता समूह की सदस्यों को कृषि उपकरण वितरित किये। जिसमें जितनी भी स्वयं सहायता समूह की सदस्य है। वो अपने परिवार का लालन पालन कर सके। डॉ. सत्यपाल सिंह और जिलाधिकारी राजकमल यादव ने 8 बड़े ट्रेक्टर, 7 छोटे ट्रेक्टर, 24 ई-रिक्शा और 40 कृषि यंत्र लाभार्थियों को दिए। इस दौरान बागपत सांसद ने डॉ. सत्यपाल सिंह ने कहा कि आज के इस कार्यक्रम में भारत सरकार की तरफ से 1 करोड़ 70 लाख रुपये का सामान वितरण किया गया है। उन्होंने कहा बागपत के 8 गांव को इस योजना में जोड़ा जा रहा है। जहां पर शहरों जैसी सुविधाएं मिलेंगी और विकास होगा। वहीं डॉ. सत्यपाल के मुताबिक बागपत देश का ऐसा पहला जिला है। जहां इस तरीके से लाभार्थियों को ट्रैक्टर व कृषि यंत्र का वितरण किया गया है।

खबरें और भी हैं...