वेस्ट यूपी में विशेष सदस्यता अभियान चलाएगी कांग्रेस:किसान, जाट प्रभावी 71 सीटों पर नजर, 26 नवंबर से अभियान का आगाज

मेरठ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तीनों कृषि कानूनों की वापसी के बाद वेस्ट यूपी में बदलते सियासी समीकरणों में सभी राजनीतिक दलों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी है। किसान और जाट बाहुल्य पश्चिमी यूपी में अब कांग्रेस विशेष सदस्यता अभियान चलाएगी। 26 नवंबर से वेस्ट यूपी के 14 जिलों में कांग्रेस चलो कांग्रेस की ओर सदस्यता महाभियान शुरू करने जा रही है। पार्टी का लक्ष्य 15 दिनों में 25हजार नए सदस्यों को कांग्रेस से जोड़ने का है ताकि आने वाले चुनाव में पार्टी वेस्ट यूपी में अपना वर्चस्व खड़ा कर सके।

जाट, किसान बाहुल्य 14जिलों की 71 सीटें
यूपी में 5 क्षेत्रों में बंटी भाजपा के पश्चिम क्षेत्र पर कांग्रेस की विशेष नजर हैं। इस पश्चिम क्षेत्र में वेस्ट यूपी के 14 जिलों की वो 71 विधानसभा सीटें आती हैं जिन पर किसान और जाटों का प्रभाव है। इसमें मेरठ, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बुलंदशहर, बागपत, बिजनौर, सहारनपुर, शामली, अमरोहा, संभल, मुजफ्फरनगर, रामपुर, हापुड़, मुरादाबाद शामिल है। इन जिलों पर पार्टी की पैनी नजर हैं। गन्ने का बकाया भुगतान, ब्याज भुगतान और गन्ना मूल्य के मुद्दे पर कांग्रेस यहां किसानों के सेंटीमेंट का फायदा उठा सके। इसलिए इन क्षेत्रों पर खास फोकस किया जा रहा है।

हरेंद्र मलिक, पंकज मलिक के डेमैज की भरपाई
वेस्ट यूपी में कांग्रेस के पुराने और कद्दावर नेता पूर्व सांसद हरेंद्र मलिक और उनके बेटे विधायक पंकज मलिक ने कांग्रेस छोड़कर सपा का दामन थाम लिया है। वेस्ट यूपी में कांग्रेस से दो बड़े चेहरों के छिटकने से कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। इस डेमैज को कंट्रोल करना और वेस्ट यूपी में पार्टी की साख बनाए रखना अब कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती है। इसलिए पार्टी का फोकस इस क्षेत्र पर अधिक है।
एक घर में चार सदस्य बनाने का लक्ष्य
कांग्रेस प्रदेश प्रवक्ता अभिमन्यु त्यागी के अनुसार कांग्रेस पार्टी की सदस्यता अभियान शुरू हो गया है। 26 नवंबर संविधान दिवस से 15 दिन तक सदस्यता अभियान चलाएंगे। एक परिवार के चार नए सदस्य पार्टी से जोड़ने का लक्ष्य है। इसके तहत 15 दिन में एक करोड़ नए सदस्य बनाने का टार्गेट है। अभियान 10 दिसंबर तक कंटीन्यू रहेगा। हर विधानसभा में न्याय पंचायतों, वार्डों के आधार पर पांच सदस्यों की टीमें बनेंगी। सदस्यता के लिए मिस्ड कॉल नंबर- 82 3000 5000 भी है। 26 नवंबर को भीम चर्चा से अभियान शुरू करेंगे। बाजारों, बस अड्डों, रेलवे स्टेशनों, कॉलेजों में अभियान चलाएंगे।

2017 में वेस्ट यूपी की 2 सीटें जीती कांग्रेस
वेस्ट यूपी में 2017 में कांग्रेस ने सहारनपुर और बेहट सीट जीती थी। बेहट सीट पर पहला चुनाव 2012 में और दूसरा चुनाव 2017 में हुआ। 2017 के चुनाव में यहां कांग्रेस के नरेश सैनी ने जीत दर्ज कराई। सहारनपुर पर कांग्रेस के टिकट से मसूद अख्तर ने जीत दर्ज कराई थी।