मेरठ में किसानों ने फूंका सरकार का पुतला:लखीमपुर खीरी प्रकरण के विरोध में सरकार के खिलाफ किसानों का हल्ला बोल

मेरठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोदीपुरम सिवाया टोल प्लाजा पर किसानों ने फूंका पुतला - Dainik Bhaskar
मोदीपुरम सिवाया टोल प्लाजा पर किसानों ने फूंका पुतला

मेरठ में किसानों ने तीन कृषि कानूनों और भाजपा सरकार के पुतले फूंके। मेरठ में 15 स्थानों पर भाकियू द्वारा सरकार का पुतला दहन कार्यक्रम रखा गया था। मेरठ में सिवाया टोल प्लाजा मोदीपुमर सहित गांवों में किसानों ने पुतले फूंके।

लखीमपुर खीरी कांड के खिलाफ किसानों ने किया पुतला दहन
लखीमपुर खीरी कांड के खिलाफ किसानों ने किया पुतला दहन

किसानों, पुलिस में हुई छीना झपटी
किसानों को सरकार के पुतले फूंकने से रोकने के लिए जगह-जगह पुलिस तैनात थी। इसके बावजूद किसानों ने पुलिस की नजर बचाकर पुतले फूंकें और फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिए। कई जगहों पर पुलिस और किसानों के बीच पुतले फूंकने को लेकर भारी खींचतान हुई। पुलिस किसानों से पुतले छीनती रही, किसान भी जिद पर अड़े रहे।

केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र की गिरफ्तारी की मांग
किसानों ने पुतले फूंकते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की, तीन कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग उठाई, साथ ही किसानो ंने कहा कि जब तक लखीमपुर खीरी कांड में केंद्रीय मंत्री अजय मिश्र टेनी को गिरफ्तार नहीं किया गया हम विरोध प्रदर्शन करते रहेंगे। अब किसान 18 अक्तूबर को रेल रोकने की तैयारी में हैं। मेरठ में 2 स्थानों पर रेल रोकने की प्लानिंग बन चुकी है।