• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Meerut
  • Farmers Will Take To The Streets Today In Protest Against The New Agricultural Laws, Made Tight Security Arrangements In 27 Districts Of West UP, Walk Carefully On The Highway

किसानों का भारत बंद आज, यूपी में चक्का जाम:नये कृषि कानूनों के विरोध में आज सड़कों पर उतरेंगे किसान, वेस्ट यूपी के 27 जिलों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए, हाईवे पर संभलकर निकलें

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भारत बंद को लेकर एकत्र व्यापारी - Dainik Bhaskar
भारत बंद को लेकर एकत्र व्यापारी

संयुक्त किसान मोर्चा के आहृवान पर आज भारत बंद है। 3 नये कृषि कानूनों के विरोध में जहां यूपी, हरियाणा, पंजाब व अन्य राज्यों के किसान 10 माह से धरना दे रहे हैं। वहीं आज किसानों का भारत बंद है। कई स्थानों किसानों के साथ व्यापारी वर्ग, वकीलों, छात्रों ने भी भारत बंद के लिए समर्थन दिया है। वेस्ट यूपी के 27 जिलों में सुरक्षा के लिए कड़े इंतजाम किए गये हैं। आज यदि हाईवे पर निकलने की तैयारी में हैं तो जरा संभलकन निकलें। सभी मुख्य मार्गों व हाईवे पर किसानों का चक्का जाम रहेगा।

किसान आंदोलन के 10 माह पूरे होने पर भारत बंद का आहृवान

3 नये कृषि कानूनों के विरोध में पंजाब, हरियाणा, यूपी के किसान धरना देते हुए आंदोलन कर रहे हैं। दिल्ली व एनसीआर के चारों मुख्य बार्डर सिंघू बार्डर, शाहजहांपुर बॉर्डर, गाजीपुर और टीकरी बॉडर पर किसानों का धरना चल रहा है। 5 सितंबर को यूपी के मुजफ्फरनगर में संयुक्त किसान मोर्चा की महापंचायत में देश भर के किसान शामिल हुए। जिसमें निर्णय लिया गया था की किसान आंदोलन के 10 माह बाद भी सरकार ने किसानों की मांगों पर विचार नहीं किया। पूरे देश में किसान 27 सितंबर को भारत बंद करेंगे।

वेस्ट यूपी के 27 जिलाें में सुरक्षा के कड़े इंतजाम

वेस्ट यूपी के मेरठ, सहारनपुर, आगरा, अलीगढ़, मुरादाबाद व बरेली मंडल के 27 जिलों में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। देहात, हाईवे और मुख्य मार्गों पर पुलिस की डयूटी लगाई गई है। जिसमें पुलिस को निर्देश दिए गये हैं की भारत बंद के दौरान कहीं भी कोई अप्रिय घटना नहीं होनी चाहिए। किसान जहां पर हाईवे पर चक्का जाम करेंगे वहां भी पैनी नजर रखी जाए। लखनऊ पुलिस मुख्यालय से जोन के एडीजी,आईजी, रेंज में डीआईजी व सभी जिलों के डीएम व पुलिस कप्तानों को निर्देश दिए गये हैं की सुरक्षा को लेकर पुलिस पूरी तरह से अलर्ट रहे।

शाम 4 बजे तक रहेगा बंद

संयुक्त किसान मोर्चा के बैनर तले किसानों के सभी संगठनों ने भारत बंद को लेकर अपना समर्थन दिया है। 27 सितंबर की सुबह 6 बजे से लेकर शाम चार बजे तक बंद रहेगा। ऐसे में वेस्ट यूपी में बंद का असर अधिक देखने को मिलेगा। यहां किसान लगातार धरना देते हुए आंदोलन कर रहे हैं। किसानों के साथ अन्य सामाजिक संगठन भी साथ में खड़े हैं। मेरठ बार एसोसिएशन ने भी किसानों के समर्थन में भारत बंद का समर्थन किया है।

इन्हें आने जाने में रहेगी छूट

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्त राकेश टिकैत का कहना है की किसान अपनी मांगों को लेकर भारत बंद कर रहे हैं। किसानों के साथ अपनी स्वेच्छा से कोई भी आ सकता है। हमारा उदृ़ेश्य किसी को परेशान करना नहीं है। अस्पताल सेवा मेडिकल, स्वास्थय विभाग, शिक्षा, छात्र, आवश्यक वस्तुओं को छूट रहेगी। पुलिस, फायर विभाग व सरकारी सेवाओं के वाहन आ जा सकेंगे। इमरजेंसी में आने जाने वाले लोगों को भी परेशान नहीं किया जाएगा। छात्रों, एंबुलेस, अनिवार्य सेवाओं को छूट रहेगी।

बंद के दौरान आपातकालीन सेवाएं, अनिवार्य सेवाएं, अनिवार्य वाहन, एंबुलेंस, निजी वाहनों में जाने वाले मरीजों, छात्रों, परीक्षा देने वाले छात्रों, इंटरव्यू देने युवा, मरीज, दूध, दही, सब्जी आदि जरूरी सेवाओं के वाहनों को छूट रहेगी।

विपक्षी दलों ने दिया समर्थन

किसानों के भारत बंद में सभी विपक्षी दलों ने बंद में किसानों का समर्थन दिया है। कांग्रेस, बसपा, सपा, रालोद का भी समर्थन है। भारतीय किसान यूनियन, के अलावा 90 संगठन हैं जो भारत बंद में किसानों के समर्थन में खड़े हैं।

सभी हाईवों पर आज चक्का जाम

मेरठ सहित वेस्ट यूपी में सोमवार को हाईवे और टोल पर किसानों का चक्का जाम रहेगा। सुबह 6 से शाम 4 बजे तक किसान टोल और शहर के मुख्य एंट्री प्वाइंट पर बैठेंगे। किसान आम जनता को परेशान किए बिना शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन करेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर मेरठ में भाकियू व अन्य किसान संगठन मिलकर विरोध प्रदर्शन करेंगे। मेरठ में 12 स्थानों पर भाकियू कार्यकर्ता, जय किसान आंदोलन संगठन, मेरठ व्यापार मंडल के कार्यकर्ता मिलकर चक्का जाम करेंगे।

व्यापारी संगठनों व वकीलों का समर्थन

किसानों ने बंद में आवश्यक सेवाओं को छूट दी है। मेरठ शहर के अंदर सदर बाजार, लालकुर्ती, कंकरखेड़ा, आबूलेन, सदर सराफा, गंज बाजार, सराफा बाजार बंद रहेंगे। वकीलों ने भी किसानों के बंद में समर्थन दिया है।

हाईवे पर इन स्थानों पर जाने से बचें

एनएच 58 दिल्ली दून हाईवे पर सिवाया टोल, सकौती, परतापुर

1. मेरठ करनाल हाईवे पर जंगेठी, दबथुआ, भूनि चौराहा, रिठानी।

2. मेरठ बड़ौत मार्ग पूठ नहर पर।

3. जानी गंग नहर पर।

4. मेरठ पौड़ी मार्ग, बहसूमा और छोटे मवाना।

5. किला परीक्षितगढ़ में गढ़ रोड।

6. मेरठ-बागपत मार्ग, जानी खुर्द।

7. मेरठ बुलंदशहर हाईवे पर भी संभलकर निकलें।

खबरें और भी हैं...