मल्टीलेवल पार्किंग प्रस्ताव निरस्त होने से व्यापारी नाराज:मेरठ में  व्यापारियों में रोष, कहा पार्किंग जरूरत है इस पर राजनीति न करें

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

मेरठ में मल्टीलेवल पार्किंग का प्रस्ताव निरस्त करने पर कारोबारियों में नाराजगी है। पुराने शहर को जाम से मुक्ति दिलाने वाले अहम प्रस्ताव को बैठक में खारिज कर दिया गया। प्रोजेक्ट निरस्त होने से क्षेत्रीय जनता और व्यापारियों ने नाराजगी जताई है। नगर निगम मल्टीलेवल जैसे अहम प्रोजेक्ट पर राजनीति न करे। क्षेत्र की जनता और सराफा कारोबारियों के लिए मल्टी लेवल पार्किंग होना जरूरी है इसे पूरा कराया जाए।

भाजपा पार्षदों ने हेरिटेज का कारण बताकर किया विरोध
नगर निगम में शनिवार को हुई कार्यकारिणी की बैठक में मल्टीलेवल पार्किंग का प्रस्ताव निरस्त हुआ था। बैठक में भाजपा के 7 पार्षद, नगरायुक्त और महापौर मौजूद थे। नियमानुसार कोरम पूरा था मगर महापौर समर्थित पार्षद, अपर नगरायुक्त व कुछ अफसर बैठक में नहीं थे। बैठक आधा घंटे चली इसके बाद महापौर नाराज होकर चली गई और बैठक स्थगित कर दी। आधे घंटे चली बैठक में पार्षदों ने मल्टीलेवल पार्किंग का मुददा उठाया। पार्षदों ने कहा मल्टीलेवल पार्किंग को टाउनहॉल में न बनाया जाए, यह हेरिटेज इमारत है। कहीं और पार्किंग बनाई जाए।

सराफा कारोबारी, स्थानीय व्यापारी कर रहे पार्किंग की मांग
मेरठ बुलियन ट्रेडर्स एसो. के महामंत्री विजय आनंद अग्रवाल ने कहा टाउनहॉल में मल्टीलेवल पार्किंग बनाने के लिए लगातार सराफा कारोबारी, क्षेत्रीय कारोबारी दो दशक से मांग उठा रहे हैँ। पुराने शहर की पार्किंग की समस्या से निजात दिलाने वाली इस मल्टीलेवल पार्किंग के प्रस्ताव का समर्थन करें तथा क्षेत्रीय व्यापार संगठनों से सम्पर्क करके उन सबके विचार जानने के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुँचें |

एक हजार से अधिक व्यापारियों को मिलेगी राहत
प्रशासन द्वारा प्रस्तावित मल्टी लेवल पार्किंग घंटाघर और उसके आसपास के क्षेत्र के सर्राफा व्यापारी, खैर नगर क्षेत्र के दवा व्यापारी,कोटला परचून थोक व्यापारी, कबाड़ी बाजार के बिल्डिंग मटेरियल आदि के व्यापारी, केसरगंज के तेल व्यापारी, घंटाघर क्षेत्र के कपड़ा व्यापारी, घड़ी व्यापारी, इलेक्ट्रॉनिक आइटम्स के व्यापारी, बाजार बजाजा के कपड़ा व्यापारी, लाला के बाजार के मावा एवं स्टेशनरी व्यापारी,खैरनगर पान दरीबा के व्यापारीयों को यहां मल्टीलेवल पार्किंग बनने से जाम से राहत मिलेगी।

खबरें और भी हैं...