पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Meerut
  • Health Department Alerted About Fever Patients, 320 Teams Set Up In City And Countryside, Survey Campaign Has Been Started From Door To Door

सेहत का हाल जानने घर-घर पहुंचेगी स्वास्थ्य विभाग की टीम:मेरठ में बुखार को लेकर अलर्ट, 10 दिन तक चलेगा सर्वे अभियान; शहर व देहात में 320 टीमें तैनात

मेरठ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डॉक्टरों को निर्देश देते सीएमओ अखिलेश मोहन व मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ अशोक तालियान।  - Dainik Bhaskar
डॉक्टरों को निर्देश देते सीएमओ अखिलेश मोहन व मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ अशोक तालियान। 

मेरठ में बुखार का प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। जिले में बुखार की स्थिति को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने 12 सितंबर से 10 दिन का विशेष अभियान शुरू किया है। जिसके अंतर्गत स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर सर्वें करेगी। वह ऐसे लोगों से बात करेगी जिन्हें बुखार या बुखार संबंधी लक्षण हैं। इनमें बच्चों, महिलाएं व घर के अन्य सदस्यों को लेकर भी सर्वे के निर्देश दिए गए हैं। घर-घर अभियान के तहत कोई भी घर छूटने न पाए। इस बात का ध्यान रखने को कहा गया है। लक्षण पाए जाने पर ऐसे लोगों का टेस्ट कराकर इलाज कराया जाएगा।

स्वास्थ्य विभाग की तरफ से तकरीबन 320 टीमें लगाई गई हैं। जो शहर व देहात क्षेत्र में ब्लॉक स्तर पर काम करेंगी। गांव में जहां घर-घर सर्वे शुरू किया गया है। वहीं शहर क्षेत्र में वार्ड के हिसाब से टीम सर्वे करेगी। सीएमओ का कहना है जल्द ही सर्वे के लिए टीमें बढ़ाई जाएगी।

बुखार को लेकर अलर्ट

सीएमओ अखिलेश मोहन ने बताया कि बुखार को लेकर स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। डेंगू, मलेरिया व व मच्छरों से होने वाली बीमारियों को देखते हुए घर-घर सर्वे अभियान शुरू किया गया है। जिसमें स्वास्थ्य विभाग की टीम लोगों के घरों पर जाकर ऐसे लोगों से बात करेगी, जिन्हें बुखार या बुखार संबंधी लक्षण है। लक्षण मिलने पर उन्हें जांच के बाद इलाज के लिए अस्पताल भेजा जाएगा।

210 लोगों को भेजा गया अस्पताल

सीएमओ अखिलेश मोहन ने बताया की 12 सितंबर को 69,049 घरों का सर्वे किया गया। जिनमें 210 लोगों को जांच के लिए अस्पताल भेजा गया। सीएमओ व मंडलीय सर्विलांस अधिकारी अशोक तालियान ने इस संबंध में रविवार रात को डॉक्टरों के साथ बैठक भी की। जिसमें सीएमओ ने निर्देश दिए हैं कि निरीक्षण में घर-घर मे होने वाले सर्वे में की जा रही गतिविधियां जैसे मच्छर जनित रोगों की रोकथाम के लिए विशेष अभियान शुरू करें।

जनपद में हाउस टू हाउस सर्वे में डेंगू के व मच्छर जनित बीमारियों के संभावित मरीजों की जांच कराएं और उनका उपचार सुनिश्चित करें। उनके इलाज के लिए सभी सरकारी अस्पतालों में पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध हैं|

खबरें और भी हैं...