पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेरठ में कुर्बानी पर जमकर विवाद:बकरीद पर घर में कुर्बानी को लेकर हिंदुओं ने किया विरोध, शहर के मिश्रित आबादी क्षेत्र में भी पुलिस बुलाई

मेरठ3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डाबका गांव में कुर्बानी को लेकर इंस्पेक्टर से विरोध जताते ग्रामीण - Dainik Bhaskar
डाबका गांव में कुर्बानी को लेकर इंस्पेक्टर से विरोध जताते ग्रामीण

बकरीद पर मेरठ में पशुओं की कुर्बानी को लेकर आज बुधवार को दो अलग-अलग स्थानों पर हंगामे की स्थिति खड़ी हो गई। कंकरखेड़ा क्षेत्र में जहां डाबका गांव में हिंदुओं ने पुलिस को सूचना देते हुए कुर्बानी पर विरोध जताया। पुलिस से कहा कि पहले यहां कभी घरों में कुर्बानी नहीं दी गई। फतेहुल्लहपुर के पास भी कुछ लोगों ने कहा कि खुले में कुर्बानी देकर माहौल खराब करने की कोशिश की जा रही है।

मेरठ के कंकरखेडा के डाबका गांव ईद के दिन पशुओं की कुर्बानी का विरोध किया। हिंदू समाज के लोगों ने इकट्ठा होकर हंगामा किया। सूचना पर कंकरखेडा इंस्पेक्टर तपेश्वर सागर गांव में पहुंचे और हंगामा कर रहे लोगो को शांत किया। हिंदुओ ने पुलिस से कहा कि ईद पर आज तक गांव में घरों में कुर्बानी नहीं हुई है। लेकिन गांव मे कुछ परिवार कुर्बानी कर रहे है।पुलिस ने गांव के लोगों के साथ पहुंचकर विशेष समुदाय के 3 लोगो के घर पर कटी हुई भैस का मीट बराबर किया। पुलिस को आते देखकर कुर्बानी करने वाले वाले भाग खड़े हुए। ग्रामीणों ने पुलिस से साफ-साफ कह दिया है कि यहां पर कुर्बानी नहीं होने देंगे। पहले कभी नहीं हुई है। इंस्पेक्टर के आश्वासन पर ग्रामीण शांत हो गए। तनाव को देखते हुए पुलिस कर्मियों की गांव में ही ड्यूटी लगाई गई है।

मिश्रित आबादी क्षेत्र में भी विरोध

बकरीद पर लिसाड़ी गेट के फतेहउल्लापुर के पास भी कुछ लोगों ने खुले में कुर्बानी को लेकर सीओ कोतवाली से शिकायत की। जिसमें स्थानीय लोगों ने कहा कि एक समुदाय के लोग खुले में पशुओं की कुर्बानी पर माहौल बिगाड़ना चाहते हैं। बाद में वहां लिसाड़ीगेट पुलिस पहुंची। लिसाड़ीगेट के पास दोनों ही समुदाय के लोग आमने सामने रहते हैं।

खबरें और भी हैं...