'रावण' के निधन पर 'मंदोदरी' बोलीं, किरदार अमर कर गए:मेरठ की अपराजिता बोलीं- त्रिवेदी के साथ काम करने की बात सुनकर मैं नर्वस हो गई थी, लेकिन वे बहुत सपोर्टिव रहे

मेरठ2 महीने पहलेलेखक: शालू अग्रवाल
  • कॉपी लिंक

रामायण में रावण की भूमिका निभाने वाले अभिनेता अरविंद त्रिवेदी के निधन पर मंदोदरी भी दुखी हैं। मेरठ की अपराजिता भूषण ने रामायण में मंदोदरी का किरदार निभाया। दैनिक भास्कर से हुई विशेष बातचीत में उन्होंने दुख जताया। अपराजिता भूषण ने कहा कि अरविंद जी रावण का किरदार निभाकर अमर हो गए। उनके साथ काम करने का ग्रेट अनुभव है, हम एक परिवार की तरह थे।

रामायण की शूटिंग के दौरान रामानंद सागर के साथ अपराजिता भूषण व अरविंद त्रिवेदी
रामायण की शूटिंग के दौरान रामानंद सागर के साथ अपराजिता भूषण व अरविंद त्रिवेदी

कोई उनके जैसा रावण नहीं बन सकता
अपराजिता कहती हैं मैं खुशनसीब हूं कि उनके जैसे दिग्ग्ज कलाकार के साथ काम कर पाई। काफी सीखने को मिला। रामायण में रावण का जो किरदार उन्होंने निभाया वो कोई नहीं निभा सकता। अरविंद जी ने रावण के चरित्र को अमर कर दिया, रावण की भूमिका निभाकर वो अमर हो गए। इतने नेचुरल एक्टर थे कि उनको रावण के लिए कभी मेकअप या गाइडेंस की जरूरत नहीं पड़ी। वो सेट पर आते, संवाद बोलते तो रावण का फील होता था, उनको रामायण की बहुत जानकारी थी।

रामायण की शूटिंग के दौरान अपराजिता भूषण और अरविंद त्रिवेदी
रामायण की शूटिंग के दौरान अपराजिता भूषण और अरविंद त्रिवेदी

रामायण री-टेलिकास्ट पर हुई थी बात
रामायण के बाद से हमारी मुलाकात नहीं हुई, मगर फोन पर बात हो जाती थी। अभी कोरोना के समय जब रामायण री-टेलिकास्ट हुआ तब बात हुई थी। उनकी तबीयत थोड़ी खराब थी। रीटेलिकास्ट में जब मंदोदरी-रावण संवाद का एपिसोड आता तो फोन करके पुरानी बातें याद करते थे।

पहली बार देखकर घबरा गई थी
अरविंद जी थिएटर के दिग्गज कलाकार थे। जब मुझे पता चला कि उनके अगेंस्ट मंदोदरी का रोल करना है तो डर गई। इतने महान कलाकार के सामने मैं क्या ही कर पाऊंगी।वह बहुत सपोर्टिव थे। उनके लिए डायलॉग याद करना बहुत छोटी और आसान बात थी। फटाफट डॉयलाग याद कर लेते। मैं उनसे सीखती थी कि अपने संवाद कैसे याद करुं।

रामायण के सेट पर शूटिंग से जुड़ी जानकारी लेते रावण, मंदोदरी
रामायण के सेट पर शूटिंग से जुड़ी जानकारी लेते रावण, मंदोदरी

मंगलवार रात हुआ अरविंद त्रिवेदी का निधन
टीवी जगत के लोकप्रिय धारावाहिक रामायण में रावण का किरदार निभाने वाले अभिनेता अरविंद त्रिवेदी का 82 साल की उम्र में निधन हो गया। अरविंद त्रिवेदी लंबे समय से बीमार चल रहे थे। मंगलवार को दिल का दौरा पड़ने से उनका निधन हो गया। बुधवार सुबह मुंबई के दहानुकरवाड़ी शमशान घाट में उनका अंतिम संस्कार संपन्न कराया गया।

अभिनेता भारतभूषण की बेटी हैं अपराजिता
रामायण शो में मंदोदरी का किरदार निभाने वाली अपराजिता भूषण अग्रवाल मशहूर अभिनेता भारतभूषण की बेटी हैं। भारतभूषण का परिवार मेरठ सदर में रहता था। अपराजिता के जन्म से पहले भारत भूषण मेरठ छोड़कर चले गए, मगर सदर में उनकी सफेद कोठी आज भी खड़ी है।

रामनगर में रहते थे अरुण गोविल
शो के राम अरुण गोविल मेरठ हापुड़ रोड पर रामनगर में किराए के मकान में रहते थे। रामनगर में आज भी वो घर है जहां अरुण गोविल का बचपन बीता। इस गली में उनके दूर के रिश्तेदार आज भी रहते हैं, अरुण गोविल को याद करते हैं।

असल मंदोदरी है मेरठ की बेटी
इत्तेफाक है कि मंदोदरी का जन्म मेरठ में हुआ था। पिता मयदानव ने मेरठ नगर बसाया था। मयदानव के नाम पर ही मेरठ का नाम मयराष्ट्र पड़ा था। जिसे बाद में मेरठ पुकारा गया। मेरठ मंदोदरी का मायका था। इसी शहर की बेटी अपराजिता ने मंदोधरी का रोल किया। मेरठ के सदर में बने बिल्वेश्वर महादेव मंदिर में मंदोदरी शिव पूजन करने जाती थी।

खबरें और भी हैं...