यूपी में 22 तक रैलियों-रोड शो पर प्रतिबंध:पार्टी मीटिंग में भी 300 से ज्यादा लोग नहीं हो सकेंगे शामिल, बढ़ते संक्रमण को देखते हुए लिया फैसला

मेरठ7 दिन पहले
  • फर्स्ट फेज के जिन 11 जिलों में चुनाव वहां 42 हजार कोरोना संक्रमित

चुनाव आयोग ने उत्तर प्रदेश सहित 5 राज्यों में चुनावी रैलियों और रोड शो पर 22 जनवरी तक प्रतिबंध बढ़ा दिया है। पार्टी मीटिंग में हाल की क्षमता से आधे लोगों को ही प्रवेश मिलेगा। किसी भी तरह की मीटिंग में अधिकतम 300 से ज्यादा लोग शामिल नहीं हो सकेंगे। सूत्रों का कहना है कि यूपी में लगातार बढ़ते संक्रमण के चलते रैलियों पर प्रतिबंध लगाने का निर्णय लिया गया है। अधिकतम 300 लोगों को बुलाने की अनुमति दी गई है।

आयोग ने 8 जनवरी को चुनाव तारीखों का ऐलान करते समय 15 जनवरी तक रैलियों पर रोक लगाई थी। आज हालात की समीक्षा करने के बाद उन्होंने रैलियों पर बैन को एक हफ्ता आगे बढ़ाया है। चुनाव आयोग ने पार्टियों को आदेश दिया है कि वे कोरोना गाइडलाइन्स का पालन करें। आयोग ने राज्य और जिला प्रशासन को निर्देश दिया है कि वे इस बात का ध्यान रखें कि सभी नियमों और आदेशों का पालन हो रहा है।

यूपी में शनिवार को कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 95 हजार के पार हो गई है। इनमें 42 हजार से ज्यादा उन 11 जिलों में हैं, जहां पहले फेज के इलेक्शन होने हैं। एक दिन पहले लखनऊ में समाजवादी पार्टी दफ्तर में जुटे कार्यकार्ताओं पर कोविड प्रोटोकाल उल्लंघन का केस दर्ज किया गया है।

गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद और मेरठ तो पूरे यूपी में कोरोना के एपिसेंटर बनकर उभरे हैं। ऐसे में इस बात की संभावना बेहद कम है कि यूपी चुनाव में इस बार जनसभाओं की अनुमति मिल पाएगी। एक्सपर्ट्स का कहना है कि यदि इन हालातों में रैलियों की परमिशन मिली तो हालात और भयावह हो सकते हैं।

जिन जिलों में होना है पहले चरण का चुनाव, वहां 8 जनवरी के बाद ऐसे बढ़ा कोरोना

10 फरवरी को पहले चरण में इन जिलों में पड़ेंगे वोट

10 फरवरी को प्रदेश में पश्चिमी यूपी के 11 जिलों में वोटिंग होगी। इसमें गौतमबुद्धनगर, गाजियाबाद, मेरठ, शामली, मुजफ्फरनगर, बागपत, हापुड़, बुलंदशहर, अलीगढ़, मथुरा, आगरा शामिल हैं। यहां की 58 विधानसभाओं में चुनाव के लिए नामांकन प्रक्रिया शुक्रवार से शुरू हो चुकी है।

24 घंटे में 15795 नए केस आए सामने
स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को रिपोर्ट जारी की। जिसके मुताबिक बीते 24 घंटों में यूपी में 15795 नए केस सामने आए। प्रदेश में अब कुल एक्टिव केस 95148 हो चुके हैं।