पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Kovid Was Hospitalizing Illegal Recovery From Patients, Was Also Taking Oxygen Rupees Separately; Hospital Sealed After Complaint

महामारी के पापी:कोविड मरीजों से अस्पताल कर रहा था अवैध वसूली, ऑक्सीजन के रुपये भी अलग से ले रहा था; शिकायत के बाद सील हुआ हॉस्पिटल

बुलंदशहरएक महीने पहले
बुलंदशर में अस्पताल के लोग मरी

कहीं रिक्शे पर तो कहीं गाड़ियों पर अस्पताल पहुंच रहे कोविड मरीजों व उनके परिजनों की हालत देख कर दिल पसीज जाता है। लेकिन इस महामारी में अवसर ढूंढने वालों को शर्म नहीं आती है। ऐसा ही एक मामला बुलंदशहर में सामने आया है। जहां एक अस्पताल मरीजों से सरकारी रेट से दुगने तिगुने दाम वसूल रहा था। यही नहीं ऑक्सीजन के रुपये भी वह अलग से चार्ज कर रहा था। शिकायत मिलने के बाद गुरुवार को बुलंदशहर सीडीओ ने मौके पर छापा मार अस्पताल को सील कर दिया।

दो से तीन दिन में लाखों का खर्च, तीमारदारों ने की शिकायत

बुलंदशहर के कोविड के बिल्लाह हॉस्पिटल ने इस महामारी में भी मरीजों को लूटना जारी रखा। बिल्लाह हॉस्पिटल में अपने कोविड मरीज का इलाज करा रहे एक तीमारदार ने बताया कि इस अस्पताल में सरकारी रेट से ज्यादा बेड और दवाएं कोविड मरीजो को दी जा रही है। तीमारदारों का कहना है कि हमें अपने मरीज की जान बचानी है तो उन्हें मुंहमांगी कीमत भी देनी पड़ी। उन्होंने बताया कि हॉस्पिटल प्रबंधन मरीजों को धमकाता था कि अस्पताल में भर्ती होना है तो रुपये देने पड़ेंगे।

सीडीओ ने भेजे अपने आदमी, शिकायत पुख्ता हुई तो मारा छापा

परेशान तीमारदारों ने बुधवार रात को इसकी शिकायत प्रशासन से की। जब सीडीओ अभिषेक पांडेय की जानकारी में मामला आया तो उन्होंने पहले कुछ लोग अस्पताल भेजे। जिन्होंने वहां मामला पता किया तो शिकायत सही निकली। जिसके बाद गुरुवार को सीडीओ अभिषेक पांडेय, जिले के सीएमओ और एक मजिस्ट्रेट ने छापा मारा। जहां अधिकारियों ने तीमारदारों से बातचीत की। लोगों के बयान दर्ज किए। जिसके बाद अस्पताल सील कर दिया गया। मौके से मैनेजर तो गिरफ्तार हुए लेकिन हॉस्पिटल मालिक फरार हो गया।

मरीजों को पहुंचाया गया दूसरे हॉस्पिटल

सीडीओ अभिषेक प्रकाश ने बताया कि हॉस्पिटल सील करने के बाद वहां भर्ती मरीजों को बेहतर इलाज के लिए दूसरे कोविड हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया है। जहां उनका इलाज चल रहा है।