27 को भारत बंद के लिए किसानों ने झोंकी ताकत:भारत बंद के लिए वकीलों ने किया किसानों का समर्थन, मेरठ बार एसोसिएशन की तरफ से लिखा गया पत्र, पुलिस प्रशासन भी हुआ अलर्ट

मेरठ8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ बार एसोसिएशन द्वार लिखा गया पत्र - Dainik Bhaskar
मेरठ बार एसोसिएशन द्वार लिखा गया पत्र

3 नये कृषि कानूनों के विरोध में जहां किसानों का पिछले दस माह से धरना चल रहा है। मुजफ्फरनगर में देश भर के किसानों की 5 सितंबर को महापंचायत हो चुकी है। वहीं अब किसान 27 सितंबर को भारत बंद की तैयारी में जुट गए हैं। किसानों के समर्थन में वकील भी उतर आए हैं। मेरठ बार एसोसिएशन ने पत्र लिखकर अवगत कराया है की 27 सितंबर को वकील न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे।

मेरठ बार एसाेसिएशन ने किसानों का समर्थन किया

मेरठ बार एसोसिएशन ने किसानों का समर्थन किया है। जिसमें मेरठ बार एसोसिएशन के अध्यक्ष महावीर सिंह त्यागी, महामंत्री सचिन चौधरी न्यायाधीश मेरठ को पत्र लिखकर अवगत कराया है। जिसमें मेरठ बार एसोसिएशन की तरफ से कहा गया है की भारत सरकार द्वारा पारित, कृषि कानूनों के विरोध में देश के अलग अलग संगठनों के किसान पिछले दस माह से दिल्ली बॉर्डर, हरियाणा, पंजाब व यूपी में धरना दे रहे हैं।

वकील बोले देश की रीढ़ की हडडी है किसान

मेरठ बार एसोसिएशन के पदाधिकारियों का कहना है की किसान देश की रीढ़ की हडडी हैं। भारत की जीडीपी में किसानों का मुख्य योगदान है। लेकिन भारत सरकार गंभीरता से इस पर विचार नहीं कर रही है। किसान संगठनों द्वारा 27 सितंबर 2021 को देश व्यापी बंद का आहवान किया है। मेरठ बार एसोसिएशन ने सर्व सम्मति से यह निर्णय लिया है की 27 सितंबर को वकील न्यायिक कार्यों से विरत रहेंगे।

हम किसानों के समर्थन में लड़ेंगे

मेरठ बार एसोसिएशन के पूर्व महामंत्री रामकुमार शर्मा का कहना है की हम किसानों के साथ हैं। किसान अपनी मांगों को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। वकीलों का पूरी तरह से समर्थन किसानों के साथ हैं। पूरे आक्रामक तरह से हम भारत बंद में किसानों के साथ रहेंगे। मेरठ बार एसोसिएशन की तरफ से अधिवक्ता संदीप सिंह, नीरज सिंह सोम, आशीष चौरसिया, लिलि यादव, रविंद्र वर्मा व अन्य रहे।

मेरठ बार एसाेसिएशन में 22 जिले

वरिष्ठ अधिवक्ता विरेंद्र सिंह सिरोही का कहना है की वकीलों ने किसानों को समर्थन किया है। मेरठ बार एसोसएिशन में मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, गौतमबुद्धनगर, बागपत, बुलंदशहर, सहारनपुर, शामली, मुजफ्फरनगर, मुरादाबाद, अमरोहा, बिजनौर, जेपीनगर, आगरा, मथुरा, फिरोजाबाद, अलीगढ़, हाथरस समेत 22 जिले हैं।

खबरें और भी हैं...