पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उप्र में दूसरी मौत:मेरठ में कोविड-19 से संक्रमित 72 वर्षीय बुजुर्ग की मौत; मुंबई से लौटे दामाद के संपर्क में आने से हुई थी बीमारी, अब तक जिले में कोरोना के 19 केस

मेरठएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ में अब तक 19 केस पॉजिटिव। - Dainik Bhaskar
मेरठ में अब तक 19 केस पॉजिटिव।
  • बुजुर्ग का मेरठ मेडिकल कॉलेज में चल रहा था इलाज, परिवार के 10 अन्य भी बीमार
  • मृतक के दामाद की भी हालत नाजुक, वेंटिलेटर पर रखा गया, संक्रमित व्यक्ति बुलंदशहर के खुर्जा का रहने वाला

उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस (कोविड-19) के संक्रमण से अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है। गोरखपुर मेडिकल कॉलेज में बीते सोमवार को 25 वर्षीय कोरोना संदिग्ध की मौत हुई थी। उसकी रिपोर्ट बुधवार को आई तो पुष्टि हुई कि मृतक युवक कोरोना से संक्रमित था। यह देश में अब तक सबसे कम उम्र के संक्रमित की पहली मौत है। वहीं, मेरठ में संक्रमित दामाद के संपर्क में आने से बीमार हुए 72 वर्षीय ससुर की मेडिकल कॉलेज में सुबह मौत हो गई। जबकि उसके दामाद की हालत नाजुक है। डॉक्टरों के अनुसार, मृतक 

एक शख्स से 11 लोगों में फैला था संक्रमण
बुलंदशहर जिले के खुर्जा निवासी 50 वर्षीय व्यक्ति की मेरठ के शास्त्रीनगर के एक मोहल्ले में ससुराल है। वह बीते 19 मार्च को मुंबई के अमरावती से मेरठ आया था। वह पत्नी के साथ अपनी बीमार सास को देखने आया था। इसके बाद एक शादी समारोह में भी उसने शिरकत की थी। बुखार व खांसी के लक्षण दिखने पर परिवार ने उसका इलाज प्राइवेट डॉक्टर के यहां कराया। लेकिन हालत में सुधार न होने पर उसे 26 मार्च को मेडिकल कॉलेज में भर्ती किया गया।

दामाद की भी हालत नाजुक
डॉक्टरों ने लार का नमूना लेकर जांच के लिए भेजा। 28 मार्च की सुबह रिपोर्ट मिली तो कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य विभाग ने परिवार व अन्य जो संपर्क में आए थे, उनकी सैंपलिंग की। इस एक शख्स से उसकी पत्नी, 72 वर्षीय ससुर, दो साले व 11 अन्य में 29 मार्च को कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। मंगलवार रात ससुर व दामाद की हालत बिगड़ने पर दोनों को डॉक्टरों ने वेंटिलेटर पर रखा था। लेकिन ससुर की आज सुबह मौत हो गई। 

क्रॉनिक पल्मोनरी डिजीज व डायबिटीज से ग्रसित था मृतक
डॉक्टरों ने बताया कि ऑक्सीजन पर रखा गया था। लेकिन 75 फीसदी ऑक्सीजन पर भी सांस लेने में दिक्कत हों रही थी। इसके बाद वेंटिलेटर पर रखा गया। क्रॉनिक पल्मोनरी डिजीज व डायबिटीज थी। सुबह आठ बजे से हालत ज्यादा बिगड़ी। 11 बजे के आसपास मौत हो गई। ऐहतियात बरतते हुए शव उनके परिजनों को सौंपा जाएगा। 

गोरखपुर में हुई थी पहली मौत
यूपी में कोरोना से संक्रमित पहले शख्स की मौत गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में सोमवार को हुई थी। जिसकी रिपोर्ट बुधवार को आई तो इसका खुलासा हुआ। बस्ती जिले के तुरकहिया निवासी 25 वर्षीय युवक को सांस लेने में तकलीफ होने पर रविवार की रात मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई थी। बुधवार को लखनऊ के केजीएमयू से आई रिपोर्ट में उसे संक्रमण होने की पुष्टि हुई है। युवक हाल ही में मुंबई से लौटा था। बस्ती प्रशासन ने जिस गांधीनगर इलाके में युवक रहता था उस इलाके को सील कर दिया है। साथ ही युवक का इलाज करने वाले मेडिकल व पैरामेडिकल स्टाफ समेत 17 सदस्यों को आइसोलेट या क्वारैंटाइन किया गया। युवक को किडनी और लीवर से जुड़ी हुई कुछ समस्या बताई जा रही है।

सबसे अधिक नोएडा में संक्रमित
उत्तर प्रदेश में अब तक मरीजों की संख्या 107 तक पहुंच गई है। तीन नए मामले सामने आने के बाद उत्तर प्रदेश में सर्वाधिक 41 संक्रमित नोएडा में मिले हैं। इसके अलावा मेरठ में 19, आगरा में 12, लखनऊ में 9, गाजियाबाद में 8, में पीलीभीत व वाराणसी में 2-2, लखीमपुर खीरी, कानपुर नगर, मुरादाबाद, शामली, जौनपुर, बागपत, बुलंदशहर व गोरखपुर में 1-1 मामला सामने आ चुका है। गोरखपुर में भर्ती हुए एक मरीज की मौत हो चुकी है। मेरठ में अब तक कोरोना के 19 केस पॉजिटिव मिले हैं। जबकि 117 लोगों के सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिनकी रिपोर्ट आना बाकी है।

खबरें और भी हैं...