नोएडा के प्रवीण ने पैरालिंपिक में भारत को दिलाया सिल्वर:हाईजंप में नए एशियन रिकॉर्ड के साथ जीता मेडल; नोएडा के डीएम बैडमिंटन के सेमीफाइनल में, मेरठ के तीरंदाज का इलिमिनेशन राउंड क्लियर

मेरठ9 महीने पहले

टोक्यो पैरालिंपिक में नोएडा के प्रवीण कुमार ने हाईजंप टी-64 कैटेगरी में सिल्वर मेडल अपने नाम कर लिया है। उन्होंने हाईजंप में नए एशियन रिकॉर्ड के साथ यह मेडल जीता। प्रवीण ने कुल 2.07 मीटर की जंप लगाई और दूसरे नंबर पर रहे। प्रवीण की उम्र महज 18 साल है। उनका जन्म 15 मई 2003 को नोएडा में हुआ था। 2019 से ही वह इंटरनेशनल प्लेटफार्म पर खेलने उतरे थे।

प्रवीण के अलावा नोएडा के डीएम सुहास एलवाई ने बैडमिंटन में इंडोनेशियन खिलाड़ी को हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश पा लिया। इसी तरह मेरठ के धनुर्धर विवेक चिकारा ने इलिमिनेशन राउंड पार कर लिया है। दोपहर में दोनों खिलाड़ियों के तीसरे राउंड के मैच होंगे।

सुहास ने शानदार मुकाबला जीता
बैडमिंटन में पुरुष सिंगल्स के एसएल-4 मुकाबले में नोएडा के डीएम सुहास एल यथिराज भी अगले दौर में पहुंच गए हैं। उन्होंने इंडोनेशिया के हैरी सुसांटो को हराया। उन्होंने 21-6, 21-12 से मुकाबला जीता। पहले दिन के प्रदर्शन को जारी रखते हुए सुहास ने आज भी प्रतिद्वंद्वी को संभलने का अवसर नहीं दिया। शानदार पारी खेलते हुए सुहास सेमीफाइनल में प्रवेश कर गए। सुहास टोक्यो पैरालिंपिक में भाग लेने वाले अकेले प्रशासनिक अफसर हैं। सुहास का अगला मुकाबला फ्रांस के लुकास मजूर के साथ होगा।

सुहास एल वाई, विवेक चिकारा के मैचों का शेड्यूल
सुहास एल वाई, विवेक चिकारा के मैचों का शेड्यूल

अंतिम 8 में पहुंचे धनुर्धर विवेक चिकारा
मेरठ के पैरा तीरंदाज विवेक चिकारा से भी देश को पदक की आस जगी है। विवेक का यह पहला ओलिंपिक है इसके बावजूद उनका प्रदर्शन शानदार रहा। विवेक ने इलिमिनेशन राउंड में अच्छा प्रदर्शन कर अगले दौर में जगह बना ली है। दोपहर को विवेक तीरंदाजी के अंतिम 8 खिलाड़ियों के 2 मुकाबलों में खेलेंगे। 2 मुकाबलों की चुनौतियों में सफलता हासिल करने के बाद क्वार्टर फाइनल में प्रवेश करेंगे। सड़क दुर्घटना में एक पैर खोने वाले विवेक प्रोस्थेटिक पैर लगाकर मैदान में उतरे हैं।

खबरें और भी हैं...