पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पंचतत्व में विलीन बागपत का शहीद:अपने लाडले पिंकू को विदाई देने उमड़ पड़ा जनसमूह; बेटियां बोलीं- हम भी पापा की तरह देश की रक्षा करेंगे

बागपतएक महीने पहले
बागपत के लुहारी गांव के शहीद हवलदार पिंकू सिंह को उनके भतीजे ने मुखाग्नि दी।
  • शनिवार रात शोपियां में हुए आंतकी हमले में शहीद हुए थे पिंकू कुमार
  • सोमवार सुबह पार्थिव शरीर गांव लाया गया, इस बार गांव में नहीं मनाई गई होली

हवलदार शहीद पिंकू कुमार का पार्थिव शरीर सोमवार को उनके पैतृक गांव लुहारी लाया गया। पिंकू की शहादत से आस पास के कई गांवों में होली की खुशियां मातम में बदल गईं। शहीद के अंतिम दर्शन के लिए हजारों लोगों की भीड़ उमड़ी। लोगों ने भारत माता की जय और जब तक सूरज-चांद रहेगा पिंकू कुमार तुम्हारा नाम रहेगा...जैसे नारे लगाकर श्रद्धांजलि दी। यमुना किनारे गार्ड ऑफ ऑनर और सैन्य सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। शहीद को मुखाग्नि उनके 15 साल के भतीजे ने दी।

बेटे की शहादत पर परिवार में गम है, लेकिन उनको इस बात का गर्व भी है कि उनका बेटा अपनी अंतिम सांस तक भारत माता की सेवा करता रहा। वो देश की रक्षा के लिए आतंकियों से लोहा लेता रहा और अपने प्राणों की आहूति दी। शहीद की दोनों बेटियों ने कहा कि वे भी अपने पापा की तरह देश की रक्षा करने के लिए सेना में जाएंगी। श्रद्धांजलि देने वालों में जिलाधिकारी राजकमल यादव, पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह के अलावा भाजपा सांसद डाक्टर सत्यपाल सिंह, विधायक समेत कई जनप्रतिनिधि भी शामिल थे।

अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़।
अंतिम दर्शन के लिए उमड़ी भीड़।

जवानों ने दो आतंकियों को मार गिराया था
बागपत के बड़ौत कोतवाली क्षेत्र के लुहारी गांव के रहने वाले पिंकू कुमार का जन्‍म 1983 में हुआ था। 13 सितंबर 2001 में वे सेना के 6-जाट रेजीमेंट में भर्ती हुए थे। 2005 में उनकी शादी मुजफ्फरनगर के सोरम गोयला गांव की रहने वाली कविता से हुई थी। परिवार में पिता जबर सिंह, मां कमलेश देवी, भाई मनोज के अलावा पत्नी कविता, 10 साल की बेटी शैली, 8 साल की बेटी अंजलि और 8 महीने का बेटा अर्णव भी है। सेना ने अफसरों ने बताया कि शनिवार रात दक्षिण कश्मीर के वानगाम शोपियां में जवानों ने एक ऑपरेशन में दो आतंकियों को मुठभेड़ में मार गिराया था। इसमें पिंकू कुमार शहीद हो गए थे, जबकि दो जवान घायल भी हुए थे।

शहीद पिंकू कुमार।- फाइल फोटो
शहीद पिंकू कुमार।- फाइल फोटो

सांत्वना देने वालों का लगा तांता
शनिवार रात की परिजनों को पिंकू के शहादत की खबर मिली थी। तब से उनके घर पर सांत्वना देने वालों का तांता लगा हुआ है। पिंकू के परिजनों और गांव वालों को उनकी शहादत पर गर्व है। उधर, शहीद की दोनों बेटियां भी पिता की शहादत पर गर्व करते हुए देश की रक्षा की बात कह रही हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहीद के परिजनों को 50 लाख रुपए की आर्थिक मदद व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की घोषणा की है। साथ ही जनपद की एक सड़क का नामकरण भी शहीद के नाम पर किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें