2449 बूथों पर चलेगा पल्स पोलियो अभियान:मेरठ में घर-घर जाकर, आंगनबांड़ी केंद्रों पर भी पिलाई जाएगी पोलियो ड्रॉप

मेरठ16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
 मेरठ में तीन स्थानों पर हुआ पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ - Dainik Bhaskar
 मेरठ में तीन स्थानों पर हुआ पल्स पोलियो अभियान का शुभारंभ

मेरठ में रविवार को पल्स पोलियो अभियान का आगाज किया गया। मेरठ पुलिस लाइन अर्बन प्राइमरी हेल्थ सेंटर, नंगलाबट‌टू व राजेंद्र नगर पीएचसी में अभियान शुरू हुआ। 19 से 23 सितंबर तक स्वास्थ्य विभाग की टीम घर-घर जाकर पोलियो ड्रॉप पिलाएगी। 0-5 साल के बच्चों को दवा दी जाएगी।

2449 बूथों पर पिलाई जाएगी पोलियो ड्रॉप

पुलिस लाइन के अर्बन प्राइमरी हेल्थ सेंटर पर प्लस पोलियो अभियान का शुभारंभ करते एमएलसी अश्विनी त्यागी, सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन व टीम
पुलिस लाइन के अर्बन प्राइमरी हेल्थ सेंटर पर प्लस पोलियो अभियान का शुभारंभ करते एमएलसी अश्विनी त्यागी, सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन व टीम

सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन ने बताया कि रविवार को मेरठ में 2249 बूथ दिवस पर बूथों पर पोलियो की दवा पिलाई गई। इस अवसर पर सांसद राजेंद्र अग्रवाल, राज्यसभा सांसद डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी, एमएलसी अश्विनी त्यागी, मंडलीय सर्विलांस अधिकारी डॉ. अशोक तालियान टीम मौजूद रही। कहा कि पोलियो ड्रॉप पीने से बच्चे को कोई बीमारी नहीं होती। दवा के बाद बुखार आता है जो सामान्य प्रभाव है। बच्चों को बुखार की दवा दी जाती है और वह ठीक हो जाते हैं। सभी लोगों को अपने बच्चों को पोलियो की दवा अवश्य पिलानी चाहिए और नियमित टीकाकरण भी कराना चाहिए।

जन्म के वक्त पिलाएं पोलियो ड्रॉप

0-5 साल के बच्चों को अवश्य पिलाएं पोलियो की दवा
0-5 साल के बच्चों को अवश्य पिलाएं पोलियो की दवा

स्कूलों को पत्र भेजकर पोलियो की दवा पिलाने व अभिभावकों को जागरुक करने के लिए अभियान चलाने का निर्देश दिया गया है। आंगनबाड़ी केंद्रों पर 3 से 5 साल के बच्चों को पोलियो ड्रॉप पिलाई जाएगी। सीएमओ ने कहा कि पोलियो का टीका अब रेगुलर इम्युनाइजेशन में शामिल है। पोलियो ड्रॉप जन्म के समय दिया जाता है। छह, दस और चौदह सप्ताह पर भी यह ड्रॉप पिलाया जाता है । इसकी बूस्टर खुराक सोलह से चौबीस महीने की आयु में भी दी जाती है । भा

मेरठ में पल्स पोलियो अभियान एक नजर में
कुल लक्षित गांव व मोहल्ले- 7,58320
लक्षित लाभार्थी बच्चे - 5,57170
पर्यवेक्षक - 449
गृह भ्रमण टीम - 1399
ट्रांजिट टीम - 240
मोबाइल टीम - 77