जुमे की नमाज से पहले SSP, ADG सड़कों पर:मेरठ में सभी संवेदनशील स्थानों पर RAF और PAC का रहेगा पहरा

मेरठ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एडीजी जोन राजीव सभरवाल, आईजी प्रवीण कुमार, डीएम दीपक मीणा आरएएफ के अधिकारियों के साथ हापुड़ अड्‌डा चौराहे से पैदल मार्च करते हुए - Dainik Bhaskar
एडीजी जोन राजीव सभरवाल, आईजी प्रवीण कुमार, डीएम दीपक मीणा आरएएफ के अधिकारियों के साथ हापुड़ अड्‌डा चौराहे से पैदल मार्च करते हुए

जुमे की नमाज से पहले बृहस्पतिवार शाम मेरठ में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। मेरठ जोन के अपर पुलिस महानिदेशक राजीव सभरवाल (ADG) और आईजी प्रवीण कुमार ने शहर की सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। शहर के संवेदनशील स्थानों पर सभी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने पैदल मार्च किया।

सुरक्षा के कड़े इंतजाम

ADG राजीव सभरवाल बृहस्पतिवार शाम आईजी प्रवीण कुमार, डीएम दीपक मीणा और आरएएफ के अधिकारियों के साथ हापुड़ अडडा पहुंचे। जहां हापुड़ रोड, लिसाड़ीगेट और अन्य स्थानों पर पैदल मार्च किया। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया की जुमे की नमाज को लेकर एहतियात के तौर पर सुरक्षा कड़ी रहेगी। पीएसी और आरएएफ की ड्यूटी लगाई गई है। सोशल मीडिया पर भी पुलिस नजर रखे हुए है। मुस्लिम समुदाय के लोगों से अपील की गई है की किसी के बहकावे में न आएं। शांतिपूर्ण रहें, पुलिस प्रशासन का सहयोग करें।

धारा 144 लागू है

जिले में धारा 114 लागू है। जुलूस, धरना प्रदर्शन और ज्ञापन को लेकर भी रोक है। मेरठ में लालकुर्ती, हापुड़ अड्‌डा चौराहा, भूमिया पुल, लिसाड़ीेगेट, कोतवाली, देहलीगेट, हापुड़ रोड, मछेरान समेत 28 मुख्य स्थानों पर सुरक्षा कड़ी रहेगी। जुमे की नमाज को लेकर पुलिस अलर्ट है। एडीजी और आईजी ने शहर में लोगाें से बातचीत करते हुए आश्वासन दिया की यदि कोई भी शरारत करता है तो ऐसे लोगों पर पुलिस सख्ती से निपटेगी।

कानपुर में जुमे की नमाज के बाद हुई थी हिंसा

भाजपा की प्रवक्ता रहीं नुपूर शर्मा ने मोहम्मद पैगंबर साहब पर विवादित बयान दिया। जिसके बाद दो सप्ताह पहले कानपुर में जुमे की नमाज पर बवाल हुआ। हजारों की संख्या में भीड़ हाथों में बैनर, झंडे लेकर सड़क पर उतर आई और पथराव व तोड़फोड़ की। 10 जून को जुमे की नमाज के बाद प्रयागराज, सहारनपुर और मुरादाबाद में भी बवाल हुआ। शुक्रवार को जुमे की नमाज को देखते हुए वेस्ट यूपी में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।