राकेश टिकैत ने ओवैसी के बहाने BJP को घेरा:मेरठ में टिकैत बोले- भाजपा के अब्बाजान को नहीं चाचूजान को जानते हैं, कोट पैंट वाले होते तो अंकल जी होते

मेरठएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ के शहीद मेजर मयंक विश्नोई के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे भाकियू नेता राकेश टिकैत। - Dainik Bhaskar
मेरठ के शहीद मेजर मयंक विश्नोई के परिजनों को सांत्वना देने पहुंचे भाकियू नेता राकेश टिकैत।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने असदुद्दीन ओवैसी को भाजपा का चाचूजान कहा है। टिकैत का कहना है कि आजकल गांवों में चर्चा है कि आंध्र प्रदेश से कोई उत्तर प्रदेश में आया है। टिकैत ने कहा, अब जो आंध्र प्रदेश से आए हैं तो चाचूजान हुए। चाचूजान हैं इसलिए ओवैसी भाजपा की 'बी' टीम हुए। ताऊ जी होते तो 'ए' टीम होते। कोट पैंट वाला होते तो अंकल जी होते।

बुधवार को मेरठ आए राकेश टिकैत ने पत्रकारों से वार्ता में भाजपा को कंपनी की सरकार का टाइटल दिया। किसान नेता ने कहा, हम तो आंदोलन कर रहे हैं, किसानों को हक दिलाने के लिए, हक मिल जाएगा तो आंदोलन बंद कर देंगे। राकेश टिकैत मेरठ कंकरखेड़ा के शिवपुरी में शहीद मयंक विश्नोई के परिजनों को सांत्वना देने आए थे। टिकैत ने परिवार के लोगों से मिलकर ढांढस बंधाया। इसके बाद मेरठ की मशहूर कुटिया पर चाय पी और संवाद किया।

मेजर मयंक के घर पहुंचे राकेश टिकैत
मेजर मयंक के घर पहुंचे राकेश टिकैत

ओवैसी आए हैं तो मेहमानवाजी करनी पड़ेगी
टिकैत ने ओवैसी को भाजपा का चाचूजान बताते हुए कहा कि पूरे यूपी में चर्चा है कि भाजपा के चाचूजान आ गए। बाहर से मेहमान आया है तो मेहमाननवाजी करनी पड़ेगी। मेहमान नवाजी तो वो ही करेगा जिसकी सरकार होगी। अब भाजपा की सरकार है तो ओवैसी भाजपा के चाचूजान हुए। आंध्र प्रदेश से आए हैं। भाजपा के अब्बाजान को तो हम नहीं जानते मगर चाचूजान को जानते हैं।

हर-हर महादेव तो मेरठ का पुराना नारा है
टिकैत ने कहा, हर-हर महादेव तो मेरठ का पुराना नारा है। जब भी यहां आंदोलन हुए ये नारा लगा है। हम तो भारत सरकार के काले कानून के खिलाफ आंदोलन कर रहे हैं, ये गदर कहां से हुआ। गदर तो 1947 में हुई थी। सरकार कहती है किसान बड़े हैं। आज तो सारे छोटे किसान है, ये तो सरकार बताए कि बड़ा किसान कौन है।

सरकार के कुछ किसान हैं जो व्यापारी हैं। जो 20 हजार कुंतल धान बेचते है। छोटा किसान तो 10 हजार कुंतल धान बेचता है। टिकैत ने भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि ये तो कंपनी की सरकार है, मोदी सरकार को चलाती है कंपनी, हम तो आंदोलन करके कानून रद्द करवाएंगे।

खबरें और भी हैं...