पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अजित सिंह के बाद RLD का मुखिया कौन:25 मई को जयंत को सौंपी जा सकती है रालोद की कमान, राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में होगा फैसला

मेरठएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी 25 मई को होना तय है। इसमें नए पार्टी अध्यक्ष की घोषणा भी की जाएगी। - Dainik Bhaskar
पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी 25 मई को होना तय है। इसमें नए पार्टी अध्यक्ष की घोषणा भी की जाएगी।

राष्ट्रीय लोकदल (RLD) के मुखिया चौधरी अजित सिंह की मौत के बाद पार्टी का अगला मुखिया कौन होगा इसकी घोषणा 25 मई को होगी। इसी दिन पार्टी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक होना तय है। बैठक में नए पार्टी अध्यक्ष की घोषणा भी की जाएगी।

माना जा रहा है कि स्व. चौधरी अजित सिंह के पुत्र और पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पोते जयंत चौधरी को पार्टी का मुखिया बनाकर उनकी ताजपोशी की जाएगी। कोरोना के कारण बैठक वर्चुअल होगी, जिसमें सभी कार्यकारिणी सदस्य भाग ऑनलाइन जुड़ेंगे।

कार्यकर्ताओं में जयंत के नाम की पूरी चर्चा
पश्चिमी यूपी में जाटों की बड़ी पार्टी रालोद में जयंत चौधरी वर्तमान में राष्ट्रीय उपाध्यक्ष का पद संभाल रहे हैं। हाल ही में कोरोना से चौधरी अ‌जित सिंह के निधन के बाद पार्टी में राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद खाली हो गया है। ‌कार्यकर्ताओं में जो चर्चा है उसमें चौधरी साहब के बेटे जयंत चौधरी को अध्यक्ष पद देने की पूरी संभावना नजर आ रही है।

समर्थकों के अनुसार जयंत चौधरी ही इस पद को संभालने के लिए उपयुक्त हैं। हालांकि कार्यकारिणी क्या फैसला लेगी इस पर अभी कुछ नहीं कहा जा सकता।

पंचायत चुनाव से पार्टी को मिली संजीवनी
उत्तर प्रदेश में हाल में संपन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में रालोद को जीत की नई संजीवनी मिली है। पश्चिमी उप्र में मेरठ, शामली सहित अन्य जिलों में पार्टी ने बढ़त ली है। इस जीत से सोई रालोद में नई जान आई है। जिसका फायदा अब पार्टी आगामी विधानसभा चुनाव में भी उठाना चाहती है। नई रणनीति के साथ पार्टी आगे बढ़ेगी।

युवाओं को मिलेगी पार्टी में प्रा‌थमिकता
कार्यकर्ताओं के अनुसार पार्टी का उद्देश्य युवाओं को प्राथमिकता देना है। जयंत चौधरी के अध्यक्ष बनते ही इसका लाभ पार्टी को मिलेगा। पार्टी विशेष अभियान चलाकर युवाओं को जोड़ेगी और अपना कुनबा बढ़ाएगी। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की विरासत इस पार्टी को पहले उनके बेटे चौधरी अजित सिंह ने संभाला आगे बढ़ाया। अब जयंत चौधरी इस परंपरा को निभाएंगे।

खबरें और भी हैं...