दरोगा लिखित परीक्षा में सेंधमारी की कोशिश:मेरठ में सॉल्वर गैंग का पर्दाफाश, दलाल समेत 2 गिरफ्तार,  5 लाख रुपये में लिखित परीक्षा देने का ठेका लिया

मेरठ7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस द्वारा पकड़े गये दोनों आरोपी - Dainik Bhaskar
पुलिस द्वारा पकड़े गये दोनों आरोपी

उत्तर प्रदश पुलिस की एसआई की लिखित परीक्षा में पिछले 3 दिनर में मेरठ में सेंधमारी की कोशिश की गई। बुधवार को शाम की पाली की परीक्षा से पहले कंकरखेड़ा से दो युवकों को पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर गिरफ्तार किया है। जिनके पास से फर्जी आईकार्ड भी बरामद किए हैं। इनमें एक आरोपी बिहार का रहने वाला है जो सॉल्वर गैंग चलाता है। एसएसपी प्रभाकर चौधरी के निर्देश पर एसपी सिटी विनीत भटनागर और एसपी क्राइम अनीत कुमार ने भी दोनाें आरोपियाें से पूछताछ की है। रात तक पुलिस आरोपियों से पूछताछ में जुटी है।

दिल्ली हरिद्वार हाईवे पर कंकरखेड़ा क्षेत्र में राधेश्याम कांपलेक्स में एसआई की लिखित परीक्षा थी। शाम की पाली में दो युवक परीक्षा देने जा रहे थे। जहां पुलिस ने दो संदिग्ध युवकों के आई कार्ड चेक किए तो पता चला की दोनों के आई कार्ड फर्जी हैं। पुलिस ने जैसे ही दोनों युवकों को हिरासत में लिया तो दोनों परीक्षा छूटने की बात कहकर बिलखने लगे। जिसके बाद पुलिस दोनों को पूछताछ के लिए थाने ले गई। जहां अधिकारियों को पूरे मामले की जानकारी दी। पुलिस ने बताया कि पकड़े गये आरोपी इमरान निवासी भदोही और दीपक निवासी पटना, बिहार है। दोनों के पास से पुलिस ने नकदी भी बरामद की है।

सॉल्वर गैंग में शामिल है इमरान

पुलिस की पूछताछ में पता चला की बिहार के पटना निवासी इमरान सॉल्वर गैंग चलाता है। यह गैंग लिखित परीक्षा में पांच पांच लाख रुपये लेकर मूल अभ्यर्थियों की जगह सॉल्वर गैंग के युवक बैठाने का ठेका ले चुका है। पुलिस यह भी जांच कर रही है जिस अभ्यर्थी की जगह परीक्षा देने जा रहे थे उसकी भी पुलिस तलाश में जुट गई है। मोबाइल की कॉल डिटेल व अन्य जानकारी के लिए क्राइम ब्रांच भी काम कर रही है।

रविवार को भी पकड़ा था एक आरोपी

एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया रविवार को मेरठ में पुलिस ने एक युवक को पकड़ा था। जिससे पूछताछ में कई चीजें सामने आईं। रविवार को परीक्षार्थी मानवेंद्र के नाम पर आशुतोष निवासी देवरिया को गिरफ्तार किया था। आशुतोष के साथ साहिर निवासी बुलंदशहर से भी पूछताछ की गई। जिनसे पूछताछ में पता चला की पटना का अमित सॉल्वर गैंग चला रहा है। जो यूपी पुलिस में एसआई की लिखित परीक्षा में पांच से 8 लाख रुपये ले चुका है। एसएसपी का कहना है की पूरे गिरोह के नेटवर्क को तोड़ने के लिए पुलिस काम कर रही है।

खबरें और भी हैं...