UP-TET का सबसे पहला पेपर बेचने वाला गिरफ्तार:अलीगढ़ के गौरव ने 5 लाख में बेचा था पेपर, आगरा का शिक्षक भी शामिल

मेरठ6 महीने पहलेलेखक: मनु चौधरी
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) के पेपर लीक में सोमवार सुबह STF ने अलीगढ़ के गौरव को गिरफ्तार कर लिया है। STF गौरव से पूछताछ कर रही है। STF अधिकारियों का दावा है कि इसी गौरव ने मथुरा में 27 नवंबर की शाम को शामली के रवि, मनीष और धर्मेंद्र को 5 लाख रुपए में पर्चा बेचा था। आगरा के एक सरकारी शिक्षक का नाम भी सामने आया है। गौरव से पूछताछ में पता चला है की आगरा के सरकारी शिक्षक से उसे पर्चा मिला था। जिसके बाद गौरव ने पांच लाख में पर्चा शामली के गिरोह को बेचा। गौरव के मोबाइल में 20 से ज्यादा संदिग्ध नंबर मिले हैं जिनकी जांच की जा रही है।

24 घंटे से पीछा कर रही थी STF
उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (TET) का रविवार 28 नवंबर को 10 बजे शुरू हुई ही थी। लेकिन, तभी STF मेरठ ने पेपर लीक का खुलासा करते हुए यूपी के शामली निवासी रवि, मनीष और धर्मेंद्र को पेपर के फोटो के साथ गिरफ्तार किया। जब जांच हुई तो पता चला की पेपर लीक हुआ है जिसके बाद शासन ने पूरे मामले में टीईटी परीक्षा रद्द कर दी। STF की आठ टीमों ने रविवार रात तक शामली, लखनऊ, गोरखुपर, चित्रकूट, बनारस, आगरा, प्रयागराज, मथुरा में दबिश देकर 29 लोगों को गिरफ्तार किया था। अलीगढ़ के गौरव की STF को तलाश थी। जिसके पीछे STF की 2 टीमें लगी थीं। सोमवार सुबह अलीगढ़ के टप्पल निवासी गौरव को गिरफ्तार कर लिया।

मथुरा में बेचा था पर्चा
पेपर लीक करने वाले मास्टरमाइंड की STF और शासन की एक विशेष टीम जांच कर रही है। लेकिन STF की जांच में सामने आया की शामली जिले के कांधला क्षेत्र का रहने वाला बबलू नाला ने 5 लाख रुपए में पेपर खरीदा था। STF मेरठ ने पूरे प्रदेश में इस गैंग का सबसे पहले खुलासा करते हुए 3 युवकों को शामली से पेपर के साथ गिरफ्तार किया था। इसके बाद एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश के निर्देश पर यूपी में मेरठ, नोएडा, लखनऊ, प्रयागराज STF ने अलग-अलग स्थानों पर गैंग की तलाश में छापे मारे। शामली के गैंग को लीक पेपर मथुरा में फ्लाईओवर के पास से मिला था। इसमें अलीगढ़ के गौरव और एक अन्य युवक मोनू का नाम सामने आया था। गौरव की गिरफ्तारी के बाद जल्द पुलिस मुख्य आरोपी तक पहुंचने का प्रयास कर रही है। यानी जिसने पेपर लीक करवाया था।