यूपी में डेंगू का डर बरकरार:36 दिन में मिले 10 हजार से ज्यादा मरीज, सबसे ज्यादा मेरठ में 825...ये तो सिर्फ सरकारी आंकड़े हैं

मेरठ7 महीने पहले

उत्तर प्रदेश में डेंगू के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है। बीते 36 दिन में ही 10717 नए मरीज सामने आए हैं। सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक 12 सितम्बर तक 2,073 केस रिपोर्ट किए गए थे, अब इनकी संख्या बढ़कर 12,780 हो गई है। सबसे ज्यादा 825 मरीज मेरठ में हैं। आगरा में 331 और प्रयागराज में 415 डेंगू के मरीज हैं।

डॉक्टरों ने सलाह दी है कि किसी भी बुखार को हल्के में न लें। इस समय कोविड व डेंगू दोनों का खतरा है। शहर से लेकर देहात तक डेंगू के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। मेडिकल कॉलेज, जिला अस्पताल और शहर के निजी अस्पतालों में डेंगू के मरीजों की लाइन लगी हैं।

मेरठ में शनिवार सुबह तक 258 मरीजों का उपचार चल रहा है। 97 मरीजों का घर पर उपचार चल रहा है। 161 मरीज सरकारी निजी अस्पतालों में भर्ती हैं।
मेरठ में शनिवार सुबह तक 258 मरीजों का उपचार चल रहा है। 97 मरीजों का घर पर उपचार चल रहा है। 161 मरीज सरकारी निजी अस्पतालों में भर्ती हैं।

3 दिन में आई कमी
मेरठ सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन ने बताया की प्रयास किए जा रहे हैं की डेंगू के मरीजों में कमी लाई जा सके। शहर व देहात में अलग अलग टीम बुखार के लक्षण वाले मरीजों का टेस्ट कर रही हैं। लैब में टेस्टिंग बढ़ाई गई है। औसतन जहां 25 से 30 मरीज डेंगू के एक दिन में मिल रहे थे, पिछले 3 दिन में 50 मरीज ही मिले हैं। जहां-जहां बुखार की शिकायत आ रही हैं वहां कैंप लगाकर टेस्ट कराने के साथ दवाई उपलब्ध कराई जा रही हैं।

10 दिन में कम होने लगेंगे मरीज
वरिष्ठ फिजीशियन डॉ. तनुराज सिरोही ने बताया की बरसात का मौसम अब जा चुका है। सितंबर व अक्टूबर माह में डेंगू का मच्छर ज्यादा प्रभावित करता है। अब रात के तापमान में कमी आने लगी है। सर्दी का मौसम आते आते डेंगू का प्रभाव भी कम होता जाएगा। आने वाले दस दिनों में मरीजों की संख्या में कमी आ जाएगी। लोगों को अपने घर और आसपास खुद भी ध्यान रखना चाहिए की कहीं पानी तो नहीं रुका हुआ है। बुखार के लक्षण मिलने पर जल्द से जल्द डॉक्टर को दिखाएं और टेस्ट कराएं।

खबरें और भी हैं...