पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मेरठ DM कार्यालय पर सपेरों ने बजाई बीन, अफसर भागे:बीन की धुन से मची खलबली, सपेरों की UP सरकार से नौकरी की मांग, कहा- हमारा रोजगार छीन लिया

मेरठ19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ में डीएम कार्यालय के बाहर बीन बजाकर प्रदर्शन करते 20 से ज्यादा संख्या में सपेरा समाज के लोग। - Dainik Bhaskar
मेरठ में डीएम कार्यालय के बाहर बीन बजाकर प्रदर्शन करते 20 से ज्यादा संख्या में सपेरा समाज के लोग।

मेरठ में डीएम कार्यालय पर सोमवार को सपेरा समाज के लोग विरोध प्रदर्शन करने पहुंचे। 20 से ज्यादा संख्या में पहुंचे सपेरों ने डीएम ऑफिस के बाहर बीन बजाकर सरकार के खिलाफ विरोध जताया। सपेरों ने कहा कि सरकार ने बीन बजाकर सांप रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है। सरकार के इस नियम ने हम सपेरों की रोजी रोटी छीन ली है। अब प्रदेश सरकार हमें नौकरी दे, ताकि हम अपना परिवार चला सकें।

दफ्तर छोड़ बाहर आ गए कर्मचारी
अखिल भारतीय घुमंतू सपेरा विकास माहसंघ के तहत सपेरा समाज के लोग डीएम कार्यालय पर बीन बजाते हुए पहुंचे। बीन और बाजे की तेज आवाज सुनकर डीएम कार्यालय के कर्मचारियों में खलबली मच गई। कर्मचारी दफ्तर छोड़कर बाहर आ गए। सपेरों की बीन और बाजे के शोर के कारण कलेक्ट्रेट का काम भी प्रभावित होने लगा। कुछ कोर्ट में सुनवाई चल रही थी, लेकिन शोर के कारण उसमें परेशानी आने लगी। तब सिटी मजिस्ट्रेट सपेरों को शांत कराने पहुंचे। सपेरों ने
सपेरों ने सिटी मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंपा।

सपेरों ने की नौकरी और जाति प्रमाणपत्र की मांग
सपेरा महासंघ के सुनील नाथ सपेरा ने कहा कि हम सपेरा समाज के लोग सांप का खेल दिखाकर बीन बजाकर अपना परिवार पालते हैं। उसे भी सरकार खत्म करने पर तुली है। सरकार ने बीन बजाने में सांप रखने पर प्रतिबंध लगा दिया है। तहसीलों में हमारे जाति प्रमाणपत्र भी नहीं बन रहे। यूपी सरकार के गजट में 17 समाजों को अंकित करके जाति प्रमाणपत्र बनवाए जाएं। सरकार या तो सांप रखने की अनुमति दे नहीं तो हम सपेरों को योग्यतानुसार नौकरी दे। सपेरा समाज यूपी सरकार के चुनाव का बहिष्कार कर आंदोलन करेगा।

खबरें और भी हैं...