पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिजनौर में युवक की हत्या:अज्ञात हमलावरों ने चाकू से मारकर किया घायल, इलाज के दौरान हुई मौत

बिजनौर20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बिजनौर में वन विभाग के क्लर्क पर अज्ञात हमलावरों ने चाकू से किया हमला। - Dainik Bhaskar
बिजनौर में वन विभाग के क्लर्क पर अज्ञात हमलावरों ने चाकू से किया हमला।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक युवक की चाकू घोपकर हत्या कर दी गई। वह दफ्तर से घर वापस लौट रहा था। तभी बाइकसवार बदमाशों ने उस पर हमला कर दिया। जिससे वह घायल होकर सड़क पर गिर पड़ा। बाद में परिजन उसे इलाज के लिए अस्पताल लेकर गए। जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

ड्यूटी से लौटते वक्त हुआ हमला

मामला धामपुर थानां क्षेत्र के नीदंडू इलाके का है। जहां सोमवार की रात भानु प्रताप जो कि वन विभाग में क्लर्क के पद पर तैनात था। वह ड्यूटी खत्म कर वापस अपने घर लौट रहा था। वह धामपुर थाना क्षेत्र में पहुंचा तभी पीछे से दो बाइकसवारों ने उसे रोक लिया। दोनों पक्षों के बीच पहले तो किसी बात पर गाली-गलौच हुआ। जिसके बाद बदमाशों ने उसे चाकू मारकर घायल कर दिया। जिससे वह लहूलुहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। हमलावर मौके से फरार हो गए।

इलाज के दौरान हुई मौत

मामले की सूचना राहगीरों से परिजनों को मिली। जिसके बाद वह सभी मौके पर पहुंचे। उन लोगों ने उसे धामपुर के अस्पताल में भर्ती करवाया। जहां उसकी हालत गंभीर होने पर डॉक्टरों ने उसे हायर सेंटर मुरादाबाद रेफर कर दिया। जहां मंगलवार की शाम इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई है।

पुलिस की तीन टीमें हमलावरों की तलाश में जुटी

मृतक की मां ने अज्ञात हमलावरों के खिलाफ पुलिस में तहरीर दी। पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा। वहीं इस मामले में आरोपियों पर धारा 307 में रिपोर्ट दर्ज की। आरोपियों की धर पकड़ के लिए पुलिस ने तीन टीमें गठित की है। जो अज्ञात हमलावरों की तलाश कर रही है। मृतक की मां की तहरीर के आधार पर पुलिस ने हत्या की धारा बढ़ा दी है। पुलिस ने बताया कि भानु प्रताप पर अमरोहा से लौटते वक्त हमला किया गया था। जिसमें अज्ञात के खिलाफ तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज की गई थी। शव का पोस्टमार्टम करा दिया गया है। जल्द ही आरोपियो को पकड़ लिया जाएगा। हमले का कारण अभी साफ नहीं है।

घर का बड़ा लड़का था मृतक

भानु के पिता वन विभाग के कर्मचारी थे। चार साल पहले उनकी मौत हो गई। जिसके बाद उसे मृतक आश्रित कोटे से क्लर्क की नौकरी मिल गई थी। उसके घर में उसकी मां व दो बहने व एक भाई है। वह अविवाहित था और अपने भाई बहनों में सबसे बड़ा था।

खबरें और भी हैं...