मेरठ... गुरविंदर सिंह ने कांग्रेस की तुलना रावण से की:कहा - कांग्रेस ने सिक्खों पर 1984 में जो अत्याचार किए हैं, उसे पीढ़ियां याद रखेंगी, गिनाईं मोदी की उपलब्धियां

मेरठ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सर्किट हाउस में पत्रकारों से वार्ता करते यूपी पंजाबी अकादमी  उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह - Dainik Bhaskar
सर्किट हाउस में पत्रकारों से वार्ता करते यूपी पंजाबी अकादमी उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह

यूपी पंजाबी अकादमी के उपाध्यक्ष गुरविंदर सिंह मेरठ में कांग्रेस पर जमकर बरसे। बुधवार को सर्किट हाउस में कहा, कांग्रेस ने सिक्खों पर 1984 में जो अत्याचार किए हैं, उसे पीढ़ियां याद रखेंगी। जिसे कभी भूला नहीं जा सकता। उन्होंने कांग्रेस की तुलना रावण से की।

गुरविंदर ने कहा, रावण हर साल जलता है। सिर्फ एक बुराई के कारण रावण को हर साल जलाया जाता है, ताकि लोग उसे भूले नहीं। इसी तरह कांग्रेस ने 1984 में सिक्खों के साथ जो किया है। खुले आम महिलाओं से दुर्व्यवहार, सिक्खों को मौत के घाट उतारा है, सड़कों पर जो अत्याचार किए हैं। वो याद रहें इसलिए हम उस दिन को कभी भूल नहीं सकते।

दंगों के दोषियों को अब मिली सजा
उपाध्यक्ष ने कहा, दंगे को आज 37 साल हो चुके। आज तक कोई सरकार दोषियों को सजा नहीं दे सकी। केवल आयोग बनते रहे। अब उन दोषियों को सजा मिल रही है। दंगों से आहत होने वाले लोगों में जो यूपी के लोग हैं। वो भी अक्तूबर तक इंतजार करें। अक्तूबर, नबंवर में और दोषियों को सजा होगी।

पंजाबी को मिली तीसरी भाषा का दर्जा
अकादमी उपाध्यक्ष बोले कि पंजाबी एकेडमी की ओर से पंजाबी ऐप लांच होने जा रहा है। प्ले स्टोर से एप को डाउनलोड कर कोई भी व्यक्ति पूरी दुनिया में पंजाबी पढ़ सकता है। पंजाबी भाषा को तीसरी भाषा का स्थान मिले ये हमारी मांग है। शिक्षा नीति में पंजाबी भाषा को स्थापित करने की भी तैयारी है।

पंजाबी समुदाय को गिना रहे भाजपा के काम
गुरविंदर ने कहा कि हम यूपी के हर पंजाबी को योगी, मोदी सरकार के काम बताएंगे। पिछले 5 सालों में जो पंजाबियों के लिए हुआ है वो कभी नहीं हुआ। योगी, मोदी सरकार ने पंजाबी बिरादरी के लोगों को नियुक्तियां दीं हैं। 4 तख्तों के लिए ट्रेन चली है। अफगानिस्तान से गुरुग्रंथ साहिब जी को खुद तीन मंत्री मिलकर पूरी मर्यादा के साथ लाए और स्थापित कराया। छोटे साहिबजादे की शहीदी दिवस पर आयोजन हुए।

खबरें और भी हैं...