किसानों की नब्ज टटोलने निकले बीज निगम उपाध्यक्ष:यूपी बीज विकास निगम उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह पहुंचे मेरठ, किसानों से किया संवाद

मेरठ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मेरठ में किसानों, अफसरों से संवाद करते बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह - Dainik Bhaskar
मेरठ में किसानों, अफसरों से संवाद करते बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह

यूपी बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह वेस्ट यूपी के दौरे पर निकले। मंगलवार को आगरा, अलीगढ़, बुलंदशहर होते हुए उपाध्यक्ष मेरठ पहुंचे। यहां बीज भंडारण केंद्रों को देखा किसानों से संवाद किया। 12 घंटे बीज विकास निगम उपाध्यक्ष पश्चिमी यूपी में रहे। एक दिन में 5 जिलों का निरीक्षण कर किसानों का हाल भी जाना। बीज गुणवत्ता और खेती के बहाने उपाध्यक्ष चुनाव से पहले किसानों की नब्ज टटोलने आए थे।

भाजपा के फोकस में किसान
वर्तमान योगी सरकार में यूपी बीज विकास निगम के उपाध्यक्ष राजेश्वर सिंह के इस दौरे का मुख्य कारण किसानों से बात कर उन्हें योगी सरकार की योजनाओं की जानकारी देना और साधना था। उपाध्यक्ष जहां भी गए अलग से किसानों से संवाद किया। जहां किसान कम थे वहां किसानों को बुलाकर बैठाया और समस्या पूछी। विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा के लिए किसान आंदोलन की तपिश को शांत करना बहुत जरूरी है। जिसमें पार्टी लगातार विफल हो रही है, इसलिए जनप्रतिनिधियों को भेजकर किसानो ंसे समय-समय पर संवाद कराया जा रहा है। पश्चिमी यूपी किसान आंदोलन की धुरी है इसलिए पार्टी का मुख्य फोकस इसी इलाके में हैं। लगातार यहां बड़े नेताओं का आना लगा हुआ है।

12 घंटे में 5 जिलों में साधा संपर्क
उपाध्यक्ष एक दिन में वेस्ट यूपी के पांच जिलों में पहुंचे। आगरा, अलीगढ़, बुलंदशहर से होकर देर शाम मेरठ आए फिर मुजफ्फरनगर चले गए। हर जिले में अफसरों के साथ बैठक कर बीज भंडारण व वितरण केंद्रों को देखा। किसानों से अकेले में संवाद किया। किसानों ने भुगतान समय पर न मिलने और बीज का वितरण सही न होने की समस्या रखी। कुछ किसानों ने समय पर बीज न मिलने की परेशानी बताई।

20 अगस्त के बाद होगा बीज वितरण
राजेश्वर सिंह ने बताया कि 20 अगस्त के बाद किसानों को बीज वितरण प्रारंभ होगा। उन्नत बीज किसानों को दिया जाए इसके लिए सारी व्यवस्थाएं बना रहे हैं। बीज की सफाई, ग्रेडिंग करने का काम 20 अगस्त से पहले पूरा करने का निर्देश दिया है। बीज विधायन संयंत्र, बीज केंद्रों, बीजों का उत्पादन व भंडारण भी देखा।

खबरें और भी हैं...