मेरठ में फर्जी नियुक्ति पत्र देने का आरोपी गिरफ्तार:सेना व अन्य सरकारी विभागों में नौकरी के नाम पर करता था लोगों से ठगी, 15 लोगों से ठगी मोटी रकम

मेरठ4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सेना समेत अन्य सरकारी विभागों में नौकरी के फर्जी नियुक्ति पत्र जारी करने और योजनाओं में लाभ दिलाने वाले ठग को मेरठ की सदर बाजार पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के पास से उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड के फर्जी नियुक्ति पत्र भी मिले हैं। इंस्पेक्टर सदर बाजार विजेंद्र सिंह राणा ने बताया कि आरोपी सरकारी नौकरी दिलाने के नाम पर कई 15 लोगों से लाखों रुपये ठगी कर चुका है। पुलिस कई महीनों से इसकी तलाश में थी।

आर्मी इंटेलिजेंस ने दिया था इनपुट

मिलिट्री इंटेलिजेंस केे इनपुट पर मेरठ की सदर बाजार पुलिस को यह बड़ी सफलता हाथ लगी है। इंस्पेक्टर सदर ने बताया कि लखन सूद नाम के इस व्यक्ति को पुलिस ने मेरठ के भैंसाली बस स्टैंड से गिरफ्तार किया है। आरोपी मेरठ से फरार होने की फिराक में था, लेकिन इससे पहले ही मिलिट्री इंटेलिजेंस केे इनपुट पर पुलिस ने उसे धर लिया। लाखन सूद पर सदर बाजार थाने में अलग अलग धाराओं में 5 मुकदमे दर्ज हैं।

पुलिस कई दिनों से इसकी तलाश में थी। आरोप है कि लाखन भोले भाले बेरोजगार युवकों को आर्मी समेत अन्य सरकारी विभागों में नौकरी दिलाने का झांसा देता था और उनसे 2-2 लाख ऐंठ लेता था। बाद में उन युवकों को फर्जी नियुक्ति पत्र जारी कर देता था। इसकी सूचना मिलिट्री इंटेलिजेंस को मिली इसके बाद सदर बाजार पुलिस ने आरोपी की गिरफ्तारी की।

फर्जी नियुक्ति पत्र बरामद

जिस वक्त लाखन निवासी सदर को गिरफ्तार किया उस वक्त भी उसके पास उत्तर प्रदेश पावर कारपोरेशन लिमिटेड के 4 फर्जी नियुक्ति पत्र थे। पुलिस अब लाखन से पूछताछ कर उसके गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में पता लगा रही है। इंस्पेक्टर सदर बाजार का कहना है कि आरोपी से पूछताछ में पता चला है कि वह 2-2 लाख रुपये ऐंठ चुका है। और 15 नाम ऐसे सामने आए हैं जिनसे ठगी कर चुका है। इन सभी 15 पीड़ित लोगों को लेकर सत्यापन व जांच शुरू कर दी गई है।

खबरें और भी हैं...