पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Meerut
  • Uttar Pradesh, Meerut, Tokyo Olympic, Olympians From All Over The World Will Take To The Field With Discus, Javelin, Hammer Made In Meerut, More Than 500 Equipment Sent

टोक्यो ओलंपिक में दिखेगा मेरठ का जलवा:मेरठ में बने डिस्कस, जैवलिन, हैमर लेकर मैदान में उतरेंगे दुनिया भर के ओलंपियन, 500 से ज्यादा उपकरण भेजे गए

मेरठ2 महीने पहलेलेखक: शालू अग्रवाल
  • कॉपी लिंक
अनेक देशों के खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस के लिए भी मेरठ के उपकरण मंगाए हैं। - Dainik Bhaskar
अनेक देशों के खिलाड़ियों ने प्रैक्टिस के लिए भी मेरठ के उपकरण मंगाए हैं।

टोक्यो ओलंपिक के मैदान में विश्व प्रसिद्ध विदेशी एथलीटों के हाथों में मेरठ में बने खेल उपकरण चमकेंगे। मेरठ के खेल उपकरणों से नामचीन खिलाड़ी प्रतिद्वंद्वी को हराने के लिए निशाना साधेंगे। ओलंपिक के लिए मेरठ से विभिन्न खेल उपकरण निर्माता कंपनियों के 500 से अधिक उपकरण टोक्यो भेजे जा चुके हैं। 23 जुलाई से प्रारंभ हो रहे ओलंपिक खेलों में मेरठ निर्मित डिस्कस, हैमर, जैवलिन, शॉर्टपुट, हर्डल्स नजर आएंगे

दर्जनों खिलाडियों के हाथों में दिखेंगे मेरठ के खेल उपकरण

नेलको इंटरनेशनल के एमडी अंबर आनंद कहते हैं ओलंपिक में डिस्कस के विश्व विजेता डेनियल स्टेही, ओलास्टून, जमैका के कैडराइट, एलेक्स रोज के हाथों में मेरठ की नेलको इंटरनेशनल का डिस्कस होगा। महिला वर्ग में डिस्कस की विश्व विजेता यामीपरेज तलेज, इटली की डेजी ओसाकू, क्यूबा की डेनिया काबालेरो और फ्रांस की मेलिना राॅबर्ट मिशन के हाथों में मेरठ का डिस्कस लहराएगा। फ्रांस के क्वेनटन बिगट और पैराओलंपिक में डिस्कस विश्व विजेता पैत्रो जूरोस्लाव सहित दर्जनों विदेशी खिलाडियों के हाथों में मेड इन मेरठ डिस्कस नजर आएगा। हर इवेंट के लिए 24, 24 की संख्या के आधार पर उपकरण जा चुके हैं। इस बार संख्या से अतिरिक्त उपकरण गए हैं।

बाधा दौड़ के लिए इस्तेमाल होने वाला हर्डल भी टोक्यो पहुंच चुका है।
बाधा दौड़ के लिए इस्तेमाल होने वाला हर्डल भी टोक्यो पहुंच चुका है।

बेहतरीन गुणवत्ता से बढ रहा मेरठ पर भरोसा

दुनिया के 150 देशों में टेबल टेनिस मेज का निर्यात करने वाली अंतराष्ट्रीय कम्पनी स्टैग इंटरनेशनल के एमडी राकेश कोहली कहते हैं मेरठ के खेल उपकरणों की गुणवत्ता ने विदेशी खिलाडियों का भरोसा जीता है। अब मेरठ सिर्फ क्रिकेट किट या बल्ले के लिए नहीं जाना जाता बल्कि फिटनेस, एथलेटिक्स और टेबल टेनिस उपकरणों ने दुनिया मे स्पोर्ट्स सिटी को मशहूर किया है। जमैका, सिडनी, क्यूबा, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा, इंग्लैंड के एथलीट मेरठ के खेल उपकरणों को पसंद करते हैं। कई खिलाडी एजेंसी के जरिए पहले ही उपकरण मंगा लेते है। उनसे अभ्यास करते हैं, कुछ खिलाड़ी सीधे कंपनियों से संपर्क साधकर उपकरण मंगवाते हैं। स्टैग ने ओलम्पिक के लिए स्पोर्टस वियर भेजे हैं।

ओलंपिक, पैरालंपिक दोनों के लिए गए उपकरण

अंतराष्ट्रीय स्तर पर स्पोर्ट्स सिटी की सफलता का सफर जारी है। मेरठ से नेलको इंटरनेशनल, एटीई, भल्ला इंटरनेशनल तीन प्रमुख कंपनियों ने ओलम्पिक केलिए खेल उपकरण भेजे हैं। टेबिल टेनिस की नामचीन कंपनी स्टैग इंटरनेशनल से ओलंपिक में कई खिलाडियों के स्पोर्टस वियर गए है। जिन्हें खिलाड़ी अभ्यास के साथ फाइनल मैच में पहने दिखेंगे। ओलंपिक, पैराओलंपिक दोनों के महिला, पुरुष वर्ग के मुकाबलों में मेड इन मेरठ उपकरणों की उपस्थिति रहेगी। एटीई इंटरनेशनल के एमडी आनंद कहते हैं एशिवयन गेम्स, ओलंपिक व काॅमनवेल्थ में मेरठ के उपकरण पसंद किए जा रहे हैं।

1982 दिल्ली एशियाड से शुरू हुआ सफर

स्पोर्टस सिटी मेरठ के खेल उपकरणों के विश्व स्तरीय खेल स्पर्धाओं में जाने की शुरूआत 1982 के दिल्ली एशियाड खेलों से हुई। 1986 एशियाड में मेरठी उत्पाद खिलाडियों की पसंद बनने लगे। 1992 बार्सिलोना समर ओलंपिक में पहली बार ओलंपिक के लिए मेरठ से उपकरण गए। इसके बाद हर विश्व स्तरीय मुकाबले में मेरठ से डिस्कस, हैमर, जैवलिन, धावकों के लिए स्टार्टर, हर्डेल,स्पोर्टस वियर जाते हैं।

23 जुलाई से शुरू होंगे टोक्यो ओलंपिक गेम्स

पिछले साल 2020 में 24 जुलाई से 9 अगस्त के बीच होने थे। मार्च 2020 में ही सस्पेंड कर दिया गया था। नवंबर 2020 में इसे 2021 में 23 जुलाई से 8 अगस्त के बीच आयोजित कराने का फैसला लिया गया।

खबरें और भी हैं...