• Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Meerut
  • Villagers Surrounded The Principal In Kapsad Inter College, Meerut, Did Not Even Deposit The Fees Of 500 Students Of 2021, Warned Of Lockout If Suspension Was Not Done

नटवरलाल बाबू 5 लाख रुपये का गबन कर फरार:मेरठ के कपसाढ़ इंटर कॉलेज में ग्रामीणों ने प्रधानाचार्य को घेरा, 2021 की 500 छात्रों की फीस भी नहीं की जमा, निलंबन न होने पर दी तालाबंदी की चेतावनी

मेरठ3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कपसाढ़ में इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य का घेराव करते ग्रामीण - Dainik Bhaskar
कपसाढ़ में इंटर कॉलेज में प्रधानाचार्य का घेराव करते ग्रामीण

मेरठ के कपसाढ़ इंटर कॉलेज का एक बाबू 5 लाख रुपये का गबन कर फरार हो गया। इस बाबू ने साल 2021 की 500 छात्रों की फीस भी सरकारी खाते में जमा नहीं की। सोमवार को ग्रामीणों ने इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य का घेराव कर 2 घंटे तक हंगामा किया। ग्रामीणों ने बाबू की नियुक्ति पर भी सवाल उठाये हैं। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि बाबू पर एफआईआर दर्ज कराकर निलंबन नहीं किया गया तो इंटर कॉलेज में धरना प्रदर्शन कर तालाबंदी की जाएगी।

जनता आदर्श इंटर कॉलेज कपसाढ़ में सूर्य प्रताप लिपिक है। 2साल पहले ही इंटर कॉलेज में नियुक्ति हुई थी। मैनेजमेंट कमेटी के एक सदस्य द्वारा जानकारी दी गई की बाबू ने गबन कर लिया है। सोमवार को गांव कपसाढ निवासी राजेश शर्मा के नेतृत्व में छात्रों के अभिभावक और अन्य ग्रामीण इंटर कॉलेज पहुंचे और हंगामा कर दिया।

गबन को दबाये रहे प्रधानाचार्य

ग्रामीणों ने हंगामा करते हुए की पूरे मामले में डीएम और डीआईओएस से भी शिकायत की जाएगी। इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य को गबन का पता था, तो बाबू पर कार्रवाई क्यों नहीं की। ग्रामीणों ने कहा की कॉलेज कमेटी द्वारा नियुक्त किए गये लिपिक सूर्य प्रताप ने 2021 में जनवरी से सितम्बर तक की सभी बच्चों की फीस और कॉलेज के सभी टीचर और बाकी स्टाफ का LIC का पैसा जमा नहीं किया। आरोपी ने 5 लाख रुपये का गबन कर लिया है। प्रधानाचार्य घनश्याम से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मुझे भी अभी मालूम चला कि सूर्य प्रताप ने ये पैसा जमा नही किया है।

कौन है जिम्मेदार

ग्रामीणों ने कहा की लिपिक सूर्य प्रताप ने एक गंभीर जुर्म किया है। प्रबंधन व प्रधानाचार्य पर इस प्रकरण को दबाने का प्रयास किया जा रहा है। कैप्टन रमेश चंद सोम ने कहा की जिन कर्मचारी की LIC की किश्त जमा नहीं हुई, उनमें से किसी की दुर्घटना हो जाती तो क्या उनके बच्चों को कुछ मिल पाता। इसके अलावा इस वर्ष जो भी छात्रों द्वारा स्कूल में फीस जमा कराई गई है उस फीस को बैंक में जमा नही कराया गया और अपने उपयोग में ले लिया है। प्रधानाचार्य ने कहा की लिपिक को पत्र लिखा गया जिसमें उसने गलती स्वीकार की है।

प्रबंधक समिति के अध्यक्ष का बेटा है आरोपी बाबू

ग्रामीणों ने कहा की दो दिन में यदि कार्रवाई नहीं हुई तो जिला विद्यालय निरीक्षक ओर जेडी कार्यालय का घेराव करने किया जायेगा। आरोपी लिपिक गोटका इंटर कॉलेज की प्रबंध कमेटी के अध्यक्ष दिनेश पंवार का बेटा है। इस दौरान यशपाल सिंह, पूर्व प्रधान सतीश सोम, पूर्व प्रधान मुकेश हप्पू सिंह, भवंर सिंह, सतपाल सोम, कर्ण सोम,राज कुमार सिंह व अन्य रहे।

खबरें और भी हैं...