पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Meerut
  • When The Clothing Factory Was Closed In The Lockdown, The Girl Was First Killed In Financial Crisis, Then The Wife And Herself Were Also Stabbed, 2 Children Were At The Maternal Uncle's House, So They Survived.

मेरठ...फैक्ट्री मालिक ने 7 साल की बेटी को मार डाला:बेटी की सांसें थमने तक चाकू से ताबड़तोड़ 10 वार करता रहा, बचाने आई पत्नी को भी लहुलूहान कर दिया

मेरठ4 दिन पहले

मेरठ में आर्थिक तंगी में कपड़ा व्यापारी ने अपनी 7 साल की बच्ची की चाकू से गोदकर कर हत्या कर दी। उसके बाद आरोपी ने पत्नी को भी ताबड़तोड़ चाकू मारे। खून से लथपथ पत्नी भी फर्श पर गिर पड़ी। जिसके बाद आरोपी ने खुद को भी 10 से अधिक चाकू मारे हैं। बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि दंपति को पुलिस ने अस्पताल में भर्ती कराया है।

मेरठ के लिसाड़ीगेट क्षेत्र के इस्लामाबाद निवासी मोहम्मद जुनैद की घर के पास ही पावरलूम फैक्ट्री है। पिछले लॉकडाउन में फैक्ट्री बंद होने के कारण कपड़े का काम बहुत कम हो गया। उसके चलते कपड़ा व्यापारी आर्थिक तंगी से जूझने लगा। इस बार भी लॉकडाउन लगा तो परिवार के सामने आर्थिक समस्या और भी खड़ी हो गई। बिजली का 70 हजार रुपये बिल भी बकाया है। आर्थिक तंगी के कारण वह जमा नहीं कर सका।

बच्ची के बचाव में घायल हुई रेशमा को अस्पताल ले जाया गया
बच्ची के बचाव में घायल हुई रेशमा को अस्पताल ले जाया गया

पिता ने 7 साल की बेटी का किया कत्ल

बकरीद पर बुधवार रात कपड़ा व्यापारी जुनैद ने अपने मकान की तीसरी मंजिल में 7 साल की बच्ची जरनैल की चाकू से गोदकर हत्या कर दी। पिता अपनी बेटी को तब तक चाकू घोंपता रहा कि जब तक दम नहीं निकल गया। आरोपी के सिर पर खून सवार था। बच्ची के हाथ, पैर व सीने में चाकू के 10 निशान बताए जा रहे हैं। खून से लथपथ बच्ची फर्श पर तड़पती रही। उसके बाद भी आरोपी वार करता रहा। बच्ची की मौके पर ही मौत हो गई।

बेटी के बचाव में आई पत्नी को भी चाकू मारे

आरोपी जुनैद बुधवार रात में जब बच्ची का कत्ल कर रहा था। तभी बच्ची की चीख-पुकार सुनकर बच्ची की मां रेशमा भी कमरे में पहुंच गई। रेशमा ने देखा कि आरोपी बेटी को चाकू मारे जा रहा है। तो रेशमा ने पति, जुनैद को बचाने का प्रयास किया। इसके बाद पत्नी रेशमा को भी चाकू मार दिया। जिसके बाद आरोपी ने खुद को भी चाकू मारकर घायल कर लिया। पुलिस ने जुनैद और उसकी पत्नी रेशमा को गढ़ रोड स्थित आनंद अस्पताल में भर्ती कराया है।

परिवार ने मानसिक रूप से बीमार बताया

कपड़ा व्यापारी जुनैद की शादी 12 साल पहले लिसाड़ीगेट निवासी रेशमा के साथ हुई थी। जुनैद के 3 बच्चे थे। बुधवार को बकरीद के चलते 10 साल की बेटी जुलिकार, व 5 साल का बेटा अजीज अपने मामा के घर चले गए। दोनों बच्चों को इनका मामा त्योहार के चलते अपने घर ले गया था। नहीं तो आरोपी उनकी भी हत्या कर देता। कपड़ा व्यापारी जुनैद के भाई हुसनैन ने पुलिस को बताया कि आर्थिक तंगी के चलते जुनैद पिछले 1 साल से मानसिक रूप से परेशान चल रहा है। जिसका डॉक्टर से इलाज भी कराया।

इस सनसनीखेज घटना की सूचना पर CO कोतवाली अरविंद चौरसिया भी मौके पर पहुंचे। CO ने बताया कि परिवार के लोगों ने बताया कि जुनैद मानसिक रूप से परेशान चल रहा है। परिवार के सामने आर्थिक समस्या भी बताई गई है। मानसिक बीमारी के चलते आरोपी ने पहले बेटी की हत्या की है। उसके बाद पत्नी व खुद को भी चाकू मारे हैं। इस मामले में पुलिस कार्रवाई कर रही है।

खबरें और भी हैं...