पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोविड वाॅरियर बनेंगे युवा:मेरठ आईटीआई में युवाओं को मिलेगा ऑक्सीजन कन्संट्रेटर बनाने की ट्रेनिंग, अमेरिका कंपनी रविवार को आएगी

मेरठएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तर प्रदेश के मेरठ में युवाओं को व्यवसायिक हुनर के साथ कोरोना योद्धा बनने का अवसर मिलेगा। मेरठ के व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) में जल्द युवाओं को ऑक्सीजन कन्संट्रेटर बनाने का प्रशिक्षण दिया जाएगा। युवा ये प्रशिक्षण लेकर भविष्य में मेडिकल के तकनीकी क्षेत्र में जाकर करियर बना सकते हैं। यह प्रशिक्षण एक अमेरिकी कम्पनी द्वारा दिया जाएगा। कम्पनी का स्टाफ ट्रेनिंग वर्कशॉप व लैब सम्बन्धी सुविधाओं को जांचने के लिए रविवार को आईटीआई में विजिट करेगा। आईटीआई में शुरू होने वाले इस प्रोजेक्ट की जानकारी स्वय व्यवसायिक शिक्षा एवं कौशल विभाग के मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने ली।

ऑन जॉब ट्रेनिंग ड्यूल सिस्टम ट्रेनिंग बढ़ाने पर दें जोर

मंत्री कपिल देव अग्रवाल ने मंडल के संयुक्त निदेशक, समस्त नोडल प्रधानाचार्य, समस्त कौशल विकास योजना के मैनेजर और निजी आईटीआई के साथ ऑनलाइन बैठक में मेरठ में शुरू हो रहे, इस प्रोजेक्ट के बारे में बताया। कहा कि सभी आईटीआई न जॉब ट्रेनिंग डुएल सिस्टम पर काम करें, ताकि युवाओं को नौकरी भी साथ मे मील और ट्रेनिंग भी। युवाओं को तकनीकी जानकारी हो तथा प्रशिक्षण पूर्ण करने के उपरान्त रोजगार प्राप्त करने में आसानी रहे। युवाओं को अप्रिंटिस पर लगाया जाए।

अभी ऑनलाइन बाद में ऑफलाइन ट्रेनिंग

कोर्स प्रमुख विवेक कोहली ने बताया अभी ऑनलाइन ट्रेनिंग देंगे, धीरे धीरे इसे ऑफ लाइन करेंगे। अनुदेशक संस्थान में आकर ऑनलाइन क्लास संचालित करेंगे। जिससे प्रशिक्षण का सैद्धान्तिक भाग पूरा कराया जा सके। पहले चरण में लगभग 100 युवाओं को ट्रेनिंग देंगे। 1500 ऑक्सीजन कन्संट्रेटर तैयार करेंगे। बाद में इसे बढ़ाएंगे। संयुक्त निदेशक सुशील कुमार ने बताया इस कार्य मे पासआउट युवाओं को भी जोड़ा जाएगा।

पहले असेम्बलिंग फिर निर्माण सिखाएंगे

पीपी अत्रि नोडल प्रधानाचार्य ने बताया कि ऑनलाइन तरीके से प्रशिक्षण का प्रचार प्रसार कर रहे हैं, ताकि अधिकतम युवा इसका लाभ ले सके। कॉर्डिनेटर

बनी सिंह चौहान ने बताया शुरुआत में कन्स्ट्रेटर को असेम्बल करना सिखाएंगे, धीरे धीरे उसको बनाने की जानकारी देंगे।

खबरें और भी हैं...