चुनार के बालूघाट में धार्मिक आयोजन:वैशाख शुक्ल सप्तमी पर मां गंगा का किया अभिषेक

चुनार10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

चुनार कस्बे में उत्तर वाहिनी मोक्ष दायनी मां गंगा की शनिवार को बालूघाट में गंगा सेवा समिति चुनार के तत्वाधान में अभिषेक और पूजन किया गया।

पांच पंडितों पण्डित शशिकान्त मिश्रा, पण्डित शिवकांत पाठक, पण्डित शिवशंकर पाण्डेय, पण्डित शुशील त्रिपाठी व पण्डित ज्ञानप्रकाश मिश्रा ने विधिवत मंत्रोच्चारण के बीच मां गंगा की आरती व पूजन अर्चन किया।

हिन्दू धर्म में गंगा नदी बहुत पवित्र है। गंगा को देवी या नदी माना जाता है। नदी और देवी गंगा की पूजा की जाती है और जल को उपचारक गुणों के लिए जाना जाता है। गंगा नदी का सिंचित जल भारत में भूमि को उपजाऊ बनाता है और कई फसलों में प्रचुर मात्रा में होता है। गंगा नदी का भारतीयों के बीच बहुत महत्व है। गैर-हिंदू और हिंदू दोनों इस राजसी नदी के मूल्य को महसूस करते हैं।

पंडित शशिकान्त मिश्रा ने कहा कि गंगे तौ दर्शनात मुक्ति अर्थात गंगा के दर्शन मात्र से मुक्ति मिलती है और गंगा पूजन का सौभाग्य प्राप्त होना परम सौभाग्य की बात है। इस अवसर पर चुनार नगर पालिका अध्यक्ष मंसूर अहमद,राम विलास साहनी, रेनू श्रीवास्तव, प्रदीप कुमार चौबे राजू चौबे, राजेश कुमार यादव उर्फ राजू यादव, हेमंत मिश्रा सहित बड़ी से संख्या में श्रद्धालु उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...