लालगंज में श्रीराम जन्म के साथ रामलीला का शुभारंभ:बीएसएफ और सीआरपीएफ के जवान निभाते हैं रावण और दशरथ का किरदार

लालगंज (मिर्जापुर)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लालगंज के गंगहरा कला गांव में रामलीला मैदान पर शनिवार रात भगवान श्रीराम और रावण के जन्म की लीला का भावपूर्ण मंचन किया गया। - Dainik Bhaskar
लालगंज के गंगहरा कला गांव में रामलीला मैदान पर शनिवार रात भगवान श्रीराम और रावण के जन्म की लीला का भावपूर्ण मंचन किया गया।

लालगंज के गंगहरा कला गांव में रामलीला मैदान पर शनिवार रात भगवान श्रीराम और रावण के जन्म की लीला का भावपूर्ण मंचन किया गया। रामलीला कमेटी के अध्यक्ष रामचंद्र सिंह पटेल, पूर्व प्रधान शिव बहाल दुबे और गांंव के वरिष्ठ नागरिकों ने संयुक्त रूप से भगवान विष्णु की आरती कर रामलीला का शुभारंभ किया।

जय प्रकाश व्यास की मानस चौपाई से श्रोता मंत्रमुग्ध हो गए। रामलीला में गुरु वशिष्ट ने महाराजा दशरथ के संतानोत्पत्ति के लिए यज्ञ करने का निर्देश दिया। यज्ञ सफल होता है। अग्निदेव प्रकट हुए और द्रव्य देकर राजा दशरथ से कहा कि अपनी रानियों को दे दीजिए। इसके सेवन करने से संतान अवश्य होगी। अगले दिन भगवान विष्णु प्रगट होते हैं। कौशल्या बाल रूप धारण कर लीला करने को कहती हैं। भगवान श्रीराम के जन्म लीला का मंचन से वातावरण भक्तिमय हो गया। साथ ही रावण के जन्म की भी लीला हुई। मंचन देखने के लिए दूर-दूर से लोग पहुंचे।

लालगंज में रामलीला का मंचन का करते कलाकार।
लालगंज में रामलीला का मंचन का करते कलाकार।

गंगहरा कला में 35 साल से रामलीला का मंचन हो रहा है। यहां की रामलीला भारतीय संस्कृति और परंपराओं को संजोए हुए है। रामायण की चौपाइयों पर ही रामलीला का मंचन होता है। इसके साथ ही पवित्रता का विशेष ध्यान रखा जाता है। रामलीला में रावण और दशरथ का रोल करने वाले बीएसएफ और केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल में तैनात हैं। हर साल छुट्टी लेकर रामलीला में अभिनय के लिए आते हैं।

लालगंज की रामलीला में कलाकारों का अभिनय देख दर्शकों ने खूब ताली बजाई।
लालगंज की रामलीला में कलाकारों का अभिनय देख दर्शकों ने खूब ताली बजाई।
खबरें और भी हैं...