पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Mirzapur
  • 25 Thousand Prize Crooks Who Have Been Absconding For 26 Years In The Hands Of The Police, Had Issued Many Non bailable Warrants And Orders For Attachment Of Property; Announcement To Reward Police Team

सोनभद्र में हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार:पुलिस के हत्थे चढ़ा 26 साल से फरार चल रहा 25 हजार का इनामी बदमाश, जारी हो चुके थे कई गैर जमानती वारंट व संपत्ति कुर्की का आदेश; पुलिस टीम को इनाम देने के हुई घोषणा

सोनभद्र14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सोनभद्र में पुलिस ने मारपीट के आरोप मे फरार चल रहे 25 हजार के आरोपी को गिरफ्तार किया है। - Dainik Bhaskar
सोनभद्र में पुलिस ने मारपीट के आरोप मे फरार चल रहे 25 हजार के आरोपी को गिरफ्तार किया है।

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। आज से 26 साल पहले एक युवक मोहल्ले में मारपीट कर एक को जख्मी करने के मामले में फरार हुआ था। पुलिस लगातार उसकी तलाश कर रही थी लेकिन हर बार उसने पुलिस को चकमा दिया। उसके ऊपर 25 हजार का इनाम घोषित किया गया था। कोर्ट से उसके खिलाफ कई बार गैर जमानती वारंट भी जारी हुआ। कई असफल प्रयासों के बाद आखिरकार पुलिस को उसे पकड़ने में सफलता मिल ही गई।

साल 1996 में हुआ था फरार

डाला क्षेत्र की यह घटना थी। जब साल 1996 में इस्लामिया इंटर कालेज ओबरा के पीछे गुरुद्वारा गली के निवासी शमशाद ने एक व्यक्ति को पीट-पीटकर बुरी तरह से जख्मी कर डाला था। उसके बाद वह मौके से भाग निकला। पुलिस में उसके खिलाफ कई धाराओं में मामला दर्ज हुआ और पुलिस ने उसकी तलाश शुरू कर दी लेकिन वह नहीं मिला। पुलिस ने घटनास्थल पर मिले साक्ष्यों और गवाहों के बयान के आधार पर चार्ज शीट न्यायालय में दायर कर दी थी।

बेच दी थी अपनी संपत्ति

इस बीच मौका पाकर आरोपी ने ओबरा की सभी चल-अचल संपत्ति बेच दी। वह खुद मिर्जापुर में गोपनीय तरीके से बस गया। उसने ओबरा क्षेत्र के लोगों से अपना संपर्क भी तोड़ लिया। इधर चार्जशीट के बाद अदालत में हाजिर ना होने पर उसके खिलाफ कई बार गैर जमानती वारंट और संपत्ति कुर्की का आदेश जारी हुआ। उसका कोई सुराग न मिलने के कारण पुलिस की कार्रवाई आगे नहीं बढ़ पा रही थी। पिछले दिनों एसपी अमरेंद्र प्रसाद सिंह ने अफसरों की बैठक ली और लंबे समय से फरारी काट रहे अपराधियों को पकड़ने का निर्देश दिया। इसमें असफल रहने वाले थानाध्यक्षों और चौकी इंचार्जों को कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

पुलिस टीम को मिलेगा 25000 का पुरस्कार

सक्रिय हुई पुलिस ने आरोपी की तलाश शुरू कर दी। पुलिस का दावा है कि मंगलवार को सुबह 10 बजे के करीब उसके तेलगुड़वा मोड़ पर मौजूद होने की सूचना मिली। जिसके बाद टीम ने घेराबंदी कर उसे दबोच लिया। पूछताछ के बाद आरोपी शमशाद का चालान कर दिया गया।एसपी ने गिरफ्तारी करने वाली पुलिस टीम की पीठ थपथपाई है। टीम ने 25000 का पुरस्कार दिए जाने की घोषणा की है।