रेलवे पुलिस ने पकड़ा 21.6 लाख का गांजा:6 महिला गिरफ्तार, नाम पता बताने में घंटों पुलिस को छकाया, माफिया के आदेश पर पहुंचाती है मादक पदार्थ

मिर्जापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आरपीएफ और जीआरपी को मिली सफलता भारी मात्रा में गांजा बरामद - Dainik Bhaskar
आरपीएफ और जीआरपी को मिली सफलता भारी मात्रा में गांजा बरामद

पुलिस की बढ़ती सक्रियता से कानून के साथ खिलवाड़ करने वालों ने भी तरीका बदल दिया है। अब मादक पदार्थों की आपूर्ति के लिए घुमंतू महिलाओं को कोरियर बनाया जा रहा है। गांजा आपूर्ति करने के लिए निकली 6 महिलाओं को रावर्टसगंज रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक से गिरफ्तार किया। चेकिंग के दौरान उनके पास सी 108 किलो गांजा बरामद किया गया। जिसकी अनुमानित कीमत 21 लाख 60 हजार रुपए बताई गई हैं। पुलिस ने कानूनी कार्रवाई करते हुए महिलाओं को जेल भेज दिया।

रावर्टसगंज स्टेशन पर मिली महिला तस्कर

पुलिस उपाधीक्षक रेलवे प्रयागराज सुनीता सिंह ने मादक पदार्थ एवं अवैध शराब के विरुद्ध विशेष अभियान चला रखा है। रेलवे स्टेशनो सर्कुलेटिंग एरिया एवं ट्रेनो में घटनाओं की रोकथाम एवं अपराधियों की गिरफ्तारी व बरामदगी के लिए चेकिंग अभियान चलाया गया रहा है। थाना जीआरपी प्रभारी निरीक्षक सन्तोष कुमार सिंह के निर्देशन में उप निरीक्षक बाढू यादव प्रभारी चौकी सोनभद्र हमराह कास्टेबल शैलेन्द्र सरोज, निलेश कनौजिया चौकी सोनभद्र जीआरपी थाना मिर्जापुर एवं आरपीएफ निरीक्षक दिनेश कुमार के निर्देशन में उप निरीक्षक राहुल यादव हेड कांस्टेबल केशव देव, कास्टेबल सतेन्द्र कुमार मिश्र संयुक्त टीम के साथ रेलवे स्टेशन रावर्टसगंज पर चेकिंग कर रहे थे । प्लेटफार्म नंबर 1 के पश्चिमी छोर से सोमवार को 6 घुमन्तू महिलाओ को गिरफ्तार किया।

नाम पता बताने में पुलिस को छकाया

बिना आधार कार्ड के प्लेटफार्म पर मिली महिलाओं के पास कोई पहचान पत्र नहीं मिला। मिला तो केवल गांजा। महिलाओं ने पुलिस को अपना गलत नाम पता बताने के साथ ही घंटो हलकान किया। हर बार उनका नाम ही बदल जा रहा था। पकड़ी गई महिलाओं में नाम ललितपुर की विनिता मोगिया, मध्य प्रदेश सतना की इंजिना बहेलिया, पूजा बहेलिया, नेहा बहेलिया, अनिता बहेलिया, अमिषा बहेलिया शामिल हैं। आरपीएफ व जीआरपी की संयुक्त कार्रवाई में महिला तस्करों के पास से भारी मात्रा में गांजा मिला। बरामदगी के आधार पर महिला आरोपियों के खिलाफ संबंधित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर जेल भेजा गया।

महिलाओ को अब बना रहें मोहरा
जीआरपी थाना प्रभारी संतोष कुमार सिंह ने बताया कि संयुक्त रूप से सामान्य चेकिंग में मादक पदार्थों के तस्करों के द्वारा महिलाओं को मोहरा बनाने का पता चला हैं । किसी भी रूप में मादक पदार्थों की आपूर्ति और कानून से खिलवाड़ करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

खबरें और भी हैं...