मिर्जापुर में 3 गौ तस्कर गिरफ्तार, 14 राशि गौवंश बरामद:कम दाम पर खरीद कर गौवंशो के बिहार के रास्ते, भेजा जाता हैं बंगाल

मिर्जापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अहरौरा पुलिस ने गौवंश तस्करों को गिरफ्तार कर भेजा जेल - Dainik Bhaskar
अहरौरा पुलिस ने गौवंश तस्करों को गिरफ्तार कर भेजा जेल

अपराधियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत रविवार को अहरौरा थाना प्रभारी निरीक्षक कुमुद शेखर सिंह ने पुलिस बल के साथ 3 गौ तस्करों को गिरफ्तार किया। जो जंगल के रास्ते गौवंशो को क्रूरता पूर्वक बांधकर मारते-पीटते हुए वध के लिए ले जाये जा रहे थे। पुलिस ने 14 राशि गोवंशो को बरामद किया।

जंगल के रास्ते तस्करों को पुलिस ने दबोचा

पुलिस की बढ़ी सक्रियता को देखते हुए गौ तस्करों ने जंगल का रास्ता साफ समझ कर गौ वंशो को ले जा रहें थे। सूत्रों से मिली जानकारी पर सक्रिय हुए थाना प्रभारी ने चोरी छिपे तस्करी के मंशा से गौ वंशो को ले जा रहें 3 गौवंश तस्करों को पकड़ा। पकड़े गए तस्करों में चन्दौली चकिया सदापुर निवासी सत्तन यादव पुत्र झूरी यादव, कैमूर भभुआ बिहार भंडारी रामगढ़ निवासी हवलदार पुत्र स्व0 सुखई राम और अहरौरा चित विश्राम के रहने वाले नसीम पुत्र इलियास शामिल हैं। इनके कब्जे से 14 गोवंश में 10 गाय, 1 बैल, 1 बछिया व 2 बछड़ा बरामद किया गया।

छुट्टा गौवंशों को पकड़ कर कमाते है मुनाफा

गिरफ्तार अभियुक्तों ने बताया कि वे आस-पास के गांवों से कम दाम पर गोवंशों को खरीदते है। इसके अलावा खुले में घूमने वाले गोवंशों को पकड़ कर बिहार के एक व्यापारी को अधिक दामों पर बेच देते है । जहा से वह व्यापारी बंगाल वध के लिए भेज देता है। उनकी निगाह सस्ता गौंवंश खरीदने के लिए उनकी तलाश करने के साथ ही छुट्टा गौवंशों पर रहती हैं। जिनकी तलाश कर उन्हे उठा लेते हैं।

खबरें और भी हैं...