मां विंध्यवासिनी के धाम पहुंचे राजस्थान के राज्यपाल:कलराज मिश्र ने मंदिर में किया दर्शन-पूजन, कृषि कानून वापसी को बताया सराहनीय कदम

मिर्जापुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी के धाम में पहुंचे राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने पर इसे केंद्र सरकार का सराहनीय कदम बताया। - Dainik Bhaskar
मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी के धाम में पहुंचे राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने पर इसे केंद्र सरकार का सराहनीय कदम बताया।

मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी के धाम में पहुंचे राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने तीनों कृषि कानून वापस लिए जाने पर इसे केंद्र सरकार का सराहनीय कदम बताया। उन्होंने कहा, किसानों को लग रहा था कि ये कानून उनके विरोध में है। लंबे समय से वह आंदोलन कर रहे थे, जिसे देखते हुए केंद्र सरकार ने इस पर विचार करने और किसानों ने समझाने के बाद इसे वापस लिया है।

राज्यपाल कलराज मिश्र ने मां विंध्यवासिनी का किया दर्शन-पूजन।
राज्यपाल कलराज मिश्र ने मां विंध्यवासिनी का किया दर्शन-पूजन।

शनिवार मां विंध्यवासिनी के धाम में पहुंचे राज्यपाल कलराज मिश्र का स्वागत नगर विधायक रत्नाकर मिश्र ने किया। राज्यपाल ने मां विंध्यवासिनी के दरबार में दर्शन-पूजन कर मत्था टेका। राज्यपाल कलराज मिश्र कहा कि जब भी वह यहां आते हैं मां विंध्यवासिनी का दर्शन-पूजन करके ही जाते हैं। उन्होंने मां से देश की प्रगति और आम आदमी के जीवन में खुशहाली की कामना की।

पत्रकारों से वार्ता करते हुए राज्यपाल कलराज मिश्र ने कृषि कानून वापसी पर बयान दिया। उन्होंने कहा, केंद्र सरकार ने अनुभव किया कि भले ही कृषि कानून किसानों के हित में हो, लेकिन उसे लेकर किसान आंदोलन कर रहे थे। इस पर विचार करने और किसानों को समझाने के बाद भी आंदोलन जारी रहा। हालांकि अब कृषि कानून वापस हो गए हैं।

नगर विधायक रत्नाकर मिश्र ने किया राज्यपाल का स्वागत।
नगर विधायक रत्नाकर मिश्र ने किया राज्यपाल का स्वागत।

कलराज मिश्र ने कहा कि शालीनता पूर्वक कृषि कानून को वापस लिया जाना एक सराहनीय कदम है। देश में प्रगति की स्थिति और अग्रसर हो। देश-प्रदेश में कोरोना महामारी का प्रकोप धीरे-धीरे कम हो रहा है। आम आदमी खुशहाली का जीवन व्यतीत करें। यह कामना मां विंध्यवासिनी से की है।